रेप पीड़िता से मिलने वाले नेताओं को महिला नेता ने दिखाया आईना

बिहार के रोहतास जिले के करगहर की दुष्कर्म पीड़िता बच्ची से मिलने वाले नेताओं का पहुंचना लगातार जारी है. इसी क्रम में सासाराम सदर प्रखंड प्रमुख रामकुमारी देवी भी बच्ची और उसके परिजनों से मिलने सदर अस्पताल पहुंचीं.
प्रमुख ने नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि सारे नेता वहां सिर्फ फोटो सेशन के लिए पहुंच रहे हैं. 05 मिनट के लिए बच्ची से मिलते हैं और पहले से मीडियाकर्मियों को बुला लिया जाता है. इसके बाद सुविधा के हिसाब से भाषण दिया जाता है. किसी को उसके मदद की जरुरत महसूस नहीं हो रही है.
प्रमुख ने कहा कि किसी के अंदर भी पीड़िता बच्ची के लिए संवेदनशीलता नहीं है. सदर अस्पताल में बच्ची के इलाज के लायक सुविधा उपलब्ध नहीं है. उसके लिए बनारस या पटना के उच्च सुविधा युक्त अस्पताल की जरुरत है क्योंकि उसके साथ जघन्य घटना घटी है.
प्रमुख ने सदर अस्पताल की कुव्यवस्था पर कहा कि मैं जब अस्पताल आई तो वहां न तो कोई डाॅक्टर मौजूद था और नहीं कोई मेडिकल स्टाफ. इस बच्ची को 24 घंटे चिकित्सकीय देखभाल की जरुरत है.
सोशल मीडिया पर घटना को सांप्रदायिक रंग देने वालों को आड़े हाथों लेते हए प्रमुख ने कहा कि लोग बैठकर पीड़िता की मदद की बजाय इसमें हिंदु मुस्लिम का रंग दे रहे हैं. जबकि ऐसे लोग किसी जाति धर्म के नहीं है. आज बच्ची और उसके परिवार को आर्थिक और नैतिक समर्थन की जरुरत है और लोग घटना की आड़ में फसाद चाहते हैं.
इसके साथ हीं उन्होंने कहा कि इस तरह की वीभत्स घटना को अंजाम देने वाले मानवता पर खतरा हैं. ऐसे लोगों को समाज में रहने का कोई हक नहीं है. एक महिला होने के नाते मैं बच्ची के दर्द को समझ सकती हूं. आरोपी को सजा ए मौत से कम कुछ भी नहीं होना चाहिए.
प्रमुख ने समाज के बुद्धिजीवियों आगे आकर बच्ची के बेहतर इलाज और पुनर्वास हेतू परिवार की आर्थिक मदद की अपील की है. इसके साथ हीं प्रमुख ने जिला प्रशासन से पीड़िता के इलाज, पुनर्वास और आगे की शिक्षा के लिए पर्याप्त मुआवजा देने की अपील की है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here