राजद ने प्रज्ञा मामले पर CM से पुछे सवाल, बिहार में परिवाद दायर

0
225

भोपाल से बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोड्से वाले बयान पर बिहार के मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दर्ज किया गया है. इसकी सुनवाई आगामी छह दिसंबर को होगा. मुजफ्फरपुर के एक समाजसेवी ने इस मामले पर परिवाद दायर किया है. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के सांसद भवन में दिए गए बयान के बाद बिहार में भी इसकी कड़ी निंद की जा रही है. लोग इनके द्वारा दिए गये बयान का विरोध कर रहे हैं. सत्ता पक्ष ने भी इसका विरोध किया है. हांलाकि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गोड्से वाले बयान पर संसद भवन में मांफी मांग ली है.

राजद नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि महात्मा गांधी की कसम खाने वाले जदयू प्रमुख का अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा की सांसद प्रज्ञा ठाकुर की नाथूराम गोडसे के बारे में की गई टिप्पणी के बारे में क्या सोचना है.

आपको बता दें कि बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ मुजफ्फरपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सीजेएम सूर्यकांत तिवारी के कोर्ट में शुक्रवार को परिवाद दाखिल किया गया है. यह परिवाद मिठनपुर थाना के पक्की सराय निवासी समाजिक कार्यकर्ता एमराजू नैय्यर ने दाखिल किया है. इस केस में कहा गया है कि महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को महिमामंडित करने का आरोप लगाया गया है. सीजेएम ने परिवाद को सुनवाई पर रखा है. छह दिसंबर को इसकी सुनवाई होगी.

बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोड्से वाले बयान के बाद पूरे देश में इस बयान को लेकर विरोध किया जा रहा है. इस बयान से बीजेपी को भी किरकिरी होने लगी है. संसदीय रक्षा पैनल से भी साध्वी को बहार कर दिया गया है. वही बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष और देश के गृह मंत्री अमित शाह ने भी साध्वी के बयान पर निंदा जाहिर किया है. साध्वी ने गोड्से वाले बयान के लिए संसद में माफी मांगी है. लोकसभा स्पीकर के आदेश से साध्वी वाले बयान को लोकसभा की कार्यवाही से हटा दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here