बिहार में विधानसभा चुनाव की आहट के बीच राजद ने अपने 3 विधायकों को पार्टी से 6 साल के लिए निकाला

0
43

बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रदेश में चुनावी सियासत तेज हो गई है. आज ही पूरे दिन बिहार के मंत्री नीतीश कुमार के करीबी श्याम रजक को पार्टी छोड़ने की बात से सियासत पूरी तरह गरमा गई है. इसके बाद राजद के भी तीन विधायकों को पार्टी से निकालने की खबरों के बाद से सियासत पूरी तरह से गरमा गई है. राजद के जिन तीन विधायकों को निष्कासित किया गया है उनमें महेश्वर प्रसाद यादव, प्रेमा चौधरी और फराज फातमी शामिल है. इन तीनों को पार्टी के विरोध में गतिविधियों को लेकर पार्टी से निकाला गया है.

राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह और आलोक मेहता ने आज दोपहर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन तीनों विधायकों को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित करने की बात कही. इन विधायकों को पार्टी से निष्काषित किया गया है उनमें महेश्वर प्रसाद यादव जोकि गायघाट से विधायक थे वहीं प्रेमी चौधरी जो पातेपुर से विधायक थी. बताया गया कि पार्टी के खिलाफ गतिविधियों को लेकर इन तीनों को पार्टी से निष्कासित किया गया है.

इसी दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजद ने कोरोना काल में बिहार सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाया है. राजद ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना और बाढ़ के समय में अगर कोई नेता है जो जनता के बीच जाकर काम किया है तो वह हैं तेजस्वी यादव उन्होंने जनता के दुःख दर्द को समझा है. नीतीश कुमार के शासनकाल में अपराध चरम पर है. अपराध के मामले में प्रदेश देश भर में 23 वे स्थान पर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here