राजद के पार्टी सदस्यों की संख्या हुई 1 करोड़

0
401

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव अपने चुनावी भाषणों में राजद को गरीब गुरबों की पार्टी कहा करते थे. आज जब लालू यादव जेल में हैं तो पार्टी का कमान लालू यादव के छोटे बेट तेजस्वी यादव के पास है ये भी अपनी पार्टी को गरीब गुरबों की पार्टी कहते हैं. लेकिन आज राजद के पार्टी फंड में 5 करोड़ रुपये है. पिछते तीन महिने में चले सदस्यता अभियान में राजद करोड़पति बन गई है. 2019 लोकसभा चुनाव के समय पार्टी फंड एक दम खाली हो गया था. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने पार्टी के स्थापना दिवस पर कहा था कि पार्टी फंड में पैसे खत्म हो गए हैं.
आपको बता दें कि राजद स्थापना 1997 में हुई थी उसके बाद से 2019 में चले सदस्यता अभियान के बाद से पार्टी सदस्यों की संख्या 1 करोड़ हो गई है. यह वह कारण है जिससे पार्टी फंड में इतना रकम आ गया है.
राजद के सदस्या अभियान पर पार्टी के नेता तनवीर हसन कहते हैं कि 1997 में आरजेडी सदस्यों की संख्या 72 लाख थी जो आज एक करोड़ तक जा पहुंची हैं.
इसमें अकेले बिहार में 78 लाख 90 हजार सदस्य बने हैं, जबकि 16 लाख से ज्यादा लोग अन्य राज्यों से बने हैं.
साथ ही लगभग सवा लाख लोगों ने ऑनलाइन सदस्यता ली है. बता दें कि आरजेडी ने सदस्यता अभियान शुल्क पांच रूपया रखा है उस हिसाब से अगर देखा जाए तो अनुमानित तौर पर अभी तक पार्टी के खाते में तकरीबन पांच करोड़ रुपए आए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here