राजद ने ट्वीट कर अमित शाह पर कसा तंज, लिखा- इसे कहते हैं जेल में बंद शेर की द-हशत

0
369

पूरा लालू परिवार (Lalu Family) इन दिनों सीएए(CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर केंद्र सरकार पर ह-मलावर हैं. वहीं दूसरी तरफ केंद्र की मोदी सरकार (Modi government) और बीजेपी (BJP) सीएए और एनआरसी को लेकर देश में जन जागरुकता अभियान चला रहा है जिसमें की वह आम जनता को सीएए को लेकर लोगो को समझा रहे है. वही, बिहार की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी राजद (RJD) की तरफ से लगातार ट्वीट किया जा रहा है.

राजद के ट्वीटर हैंडल से ट्वीट हुआ जिसमें उन्होंने वैशाली में हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दिए गये भाषण पर जिक्र करते हुए लिखा है कि अमित शाह ने एक बार नहीं अपने भाषण में पूरे 27 बार लालू जी का नाम लिया. इसे कहते हैं जेल में बंद शेर की द-हशत. शेर का डर गीदड़ों में होना भी चाहिए. बाकी बिना रीढ़ की हड्डी के रेंगने वाले पलटू जैसे जीव भी है. इस ट्वीट में जहां एक तरफ अमित शाह पर प्र-हार किया गया है तो वहीं दूसरे तरफ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा है. जिसमें उन्होंने इशारो इशारों में उन्हें पलटु जैसे जीव कहा है.

इधर बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री (Ex CM) राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने ट्वीट करते हुए सीएए और मंहगाई को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने अपना ट्वीट भोजपुरी में लिखा है जिसमें उन्होने लिखा है कि मँहगाई, बेरोजगारी जनता के कमर तोड़ देलस। बाजार में अईसन आ-ग लागल बा की गरीब के जियल मुहाल हो गईल बा। हर जीनीस के भाव पाँच से दस गुणा बढ़ गईल बा। जनता के पास जिये खातिर खरिदारी करे के पईसा नईखे। ऊपर से गरीब के नागरिकता छिने के ष-ड्यंत्र हो रहल बा। एह लड़ाई में हम रउआ सबके साथ बानी। राबड़ी देवी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मंहगाई और बेरोजगारी से आज की जनता पूरी तरह से परेशान है. इससे गरीबों का जीना मुहाल हो गया है. पर वस्तु का दाम पांच से दस गुणा बढ़ गया है. अब तो आम जनता के पास उसे खरीदने के लिए पैसा भी नहीं.

STET परीक्षा के लिए आज से करे एडमिड कार्ड डाउनलोड, जाने पूरा प्रोसेस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here