तेजस्वी की सक्रियता से RLSP गदगद तो RJD कार्यकर्ता भी उत्साहित

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आगामी विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की ओर से सीएम उम्मीदवार होंगे, इसमें कोई शक नहीं है. तेजस्वी ने पिछले कुछ महीनों में जिस प्रकार की सक्रियता दिखाई है, उससे राजद कार्यकर्ता तो उत्साहित हैं ही, महागठबंधन के सहयोगी दल भी गदगद दिखाई दे रहे हैं.
Set up screening centres at exit points: Tejashwi Yadav to Bihar ...

हर मौके पर दर्ज कराई उपस्थिति

तेजस्वी यादव ने जिस प्रकार से हर मौके पर अपनी उपस्थिती दर्ज कराई है. चाहे वो गोपालगंज में तीहरे ह त्याकांड का मसला हो या रामाश्रय कुशवाहा मर्डर केस. तेजस्वी यादव हर जगह मौजूद नजर आएं. स्वयं अनशन स्थल पर पहुंच कर परिजनों का हौंसला बढ़ाया. उसके बाद विधानसभा के सत्र में भी जिस एग्रेसिव मुद्रा में उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ्य व्यवस्था पर प्रहार किया, उससे राजद के कार्यकर्ता में एक नए प्रकार का उत्साह जगता हुआ दिखाई पड़ा.

सहयोगी रालोसपा भी गदगद

प्रतिष्ठित मीडिया समूह ईटीवी न्यूज नेटवर्क की खबर के अनुसार रालोसपा के मुख्य प्रवक्ता अभिषेक झा ने तेजस्वी यादव की भूमिका की सराहना करते हुए कहा है कि तेजस्वी ने इस साल सभी बड़े मौकों पर अपनी भूमिका का निर्वाह किया है. यह आसन्न विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा. वहीं राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी का कहना है कि तेजस्वी यादव लगातार सरकार से सवाल पूछ रहे हैं. तेजस्वी यादव के सवालों ने आज सरकार की बोलती बंद कर दी है, जिससे बिहार के हर वर्ग में उनकी स्वीकार्यता बढ़ी है.

मांझी की पार्टी की राय अलग

वहीं इस मुद्दे पर राजद की सहयोगी पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की पार्टी की राय अलग है. हम प्रवक्ता दानिश रिजवान का कहना है कि सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने से राजद को फायदा हो सकता है लेकिन महागठबंधन को नहीं. अगर तेजस्वी यादव की सक्रियता का लाभ उठाना है तो महागठबंधन स्तर पर काम करना पड़ेगा. महागठबंधन को मजबूत करने के लिए समन्वय समिति बनाना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here