‘इसलिए हम सभी खुलकर खेलते हैं’, ‘मैन ऑफ द मैच’ रिद्धिमान साहा ने दिया बड़ा बयान

0
680

IPL 2022 में नई टीम Gujarat Titans(GT) कमाल कर रही है. पॉइंट्स टेबल में नंबर-1 पर काबिज Hardik Pandya की कप्तानी वाली गुजरात टाइटन्स जबरदस्त फॉर्म में है और 20 अंकों के साथ टॉप पर है. IPL 2022 के 62वें मैच में गुजरात ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 7 विकेट से हरा दिया. इस जीत के साथ ही गुजरात ने नंबर-1 पोजीशन पक्की कर ली है. चेन्नई के खिलाफ वैसे तो गेंदबाजी जबरदस्त हुई लेकिन मैच के हीरो रहे सलामी बल्लेबाज Wriddhiman Saha, जिन्होंने 67 रनों की नाबाद पारी खेली.


टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट खोकर 133 रन ही बना सकी. चेन्नई की तरफ से सलामी बल्लेबाज Ruturaj Gaikwad ने सबसे अधिक 53 रन बनाए जबकि Narayan Jagadeesan ने 39 रनों की नाबाद पारी खेली. गुजरात के सभी गेंदबाजों ने सधी हुई गेंदबाजी की और चेन्नई के बल्लेबाजों को हाथ खोलने का मौका नहीं दिया. तेज गेंदबाज Mohammad Shami ने 2 विकेट चटकाए, अपने कोटे के 4 ओवरों में उन्होंने सिर्फ 19 रन दिए. शमी के अलावा Alzarri Joseph ने भी बेहतरीन गेंदबाजी की, हालांकि उनको 1 विकेट ही मिला लेकिन 3 ओवरों में उन्होंने सिर्फ 15 रन खर्च किए. स्पिनरों में Rashid Khan और Sai Kishore ने 1-1 विकेट चटकाए.

134 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए गुजरात के सलामी बल्लेबाज Wriddhiman Saha ने मोर्चा संभाला और शानदार बल्लेबाजी की. साहा ने संभलकर बल्लेबाजी करते हुए अंत तक रहते हुए अपनी टीम को 5 गेंद रहते जीत दिला दी. साहा ने 57 गेंदों में 8 चौकों और 1 छक्के की मदद से 67 रनों की पारी खेली. इस शानदार प्रदर्शन के लिए उनको ‘मैन ऑफ द मैच’ अवार्ड से नवाजा गया. ‘मैन ऑफ द मैच’ रिद्धिमान साहा ने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में बड़ा ही दिलचस्प बयान दिया और अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी का श्रेय टीम मैनेजमेंट को दिया.

‘मैन ऑफ द मैच’ साहा ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में रिद्धिमान साहा ने कहा, “मैं अब 15 साल से खेल रहा हूं, लेकिन आशीष भाई(आशीष नेहरा) और बांकी सभी के साथ यह सेटअप वास्तव में अच्छा है. शुरू के मैचों में मुझे मौके नहीं मिले, लेकिन मैं अभ्यास नेट पर करता रहा और जब मुझे मौका मिला, तो मैंने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया.”

आगे साहा ने कहा, “आज हम सिर्फ 133-134 रनों का पीछा कर रहे थे, इसलिए मेरा रोल पावरप्ले में तेज खेलने की है, जहां मुझे कुछ मौके लेने की दरकार होती है. उसके बाद जब रन रेट हमारा ठीक हुआ तो हमें बस एक रन बॉल की जरुरत थी, इसलिए हमें चांस लेने की जरुरत नहीं थी. मैंने अपनी बाउंड्री लगाने के लिए बस खराब गेंदों का इंतजार किया. पिच थोड़ी धीमी थी. ऑड बॉल टर्न कर रही थी, इसलिए शुरू में मैं तेज गेंदबाजों के खिलाफ अपने मौके लेना चाहता था और उसके बाद यह सिर्फ स्ट्राइक रोटेट करने और साझेदारी बनाने के बारे में था. मैं पावरप्ले में खुद को एक आक्रामक खिलाड़ी के रूप में देखता हूं.”

आगे साहा ने कहा, “मेरी ताकत स्वीप खेलने और बाहर निकलने और हिट करने में रही है, इसलिए मैं यही कर रहा हूं. टीम यहां किसी व्यक्ति पर दबाव नहीं बनाती इसलिए हम सभी खुलकर खेलते हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here