बिहार के ऐसे किशोर जो 16 वर्ष से हैं सामाजिक कर्यकर्ता, मिल चुके हैं कई सम्मान

0
385

बिहार के एक ऐसे युवा जिनकी उम्र महज 18 वर्ष हैं और आज के तारीख में वे कई सामाजिक कार्यों को पूरा किया है. उन्होंने 16 वर्ष की अवस्था से सामाजिक कार्यों को करना आरम्भ किया। उन्हें सामाजिक कार्यों के लिए कई पुरस्कार भी मिल चुका है.
पटना जिले के उपखण्ड मंसूरी में सिफियान आजाद को 16 वर्ष की अवस्था से सामाजिक कर्यों में दिलचस्पी हो गई और वे खुद भी गरीब हैं लेकिन सामाजिक कार्य करने का प्रोत्साहन उन्हें उन बच्चों से मिला जो कूड़ा उठाया करते थे. तारेगना रेलवे स्टेशन के पास रहते हुए उन्होंने कचरा इकट्ठा करने वाले को देखा, जिसे देखते हुए वे बड़ा हुए. उनमें से कई बच्चे बेसहारा या भागे हुए थे. उन्हें ये लगता था कि प्लास्टिक के कचड़े इकट्ठा करके उन पैसे से वे जुआ खेलेंगे और फिर ये अपराधिक प्रवृत्तियों में चले जायेंगे। इससे न केवल इनका भविष्य ख़राब होगा बल्कि देश मुसीबत बनेंगे।

सूफ़ियान और एक दोस्त मोहम्मद आबिद मिलकर बच्चों के लिए स्कूल चलाने का निर्णय लिया। रेलवे परिसर में 11 बच्चों के साथ स्कूल चलाने लगा लेकिन रेलवे परिसर ने इसके लिए मना कर दिया मगर किशोर ने वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की उसके बाद उन्हें इसके लिए अनुमति मिल गई.

वे अपने पॉकेट खर्च से बच्चों के लिए प्रोत्साहन रूप में चॉकलेट, वगैरह खरीदना आरम्भ किया। बच्चों के लिए उन्होंने किताब और कलम की व्यवस्था करने के लिए पुराने अख़बारों को इकट्ठा किया और फिर उसे बेचना शुरू किया। यह विद्दयालय अनौपचारिक ढ़ंग से 2016 में शुरू हुआ और अबतक 150 बच्चों को समेटे हुए है. इस खबर के प्रसार में आने पर लोगों ने भी यथासंभव सहयोग करना शुरू कर दिया। बीडीओ और एसडीओ ने भी मदद की.

इसके अलावा ये दो दोस्तों ने दुर्गापूजा में स्टॉल भी लगाकर लोगों को पानी पिलाने का कार्य किया। सूफियान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलना चाहते हैं जिसमें अबतक उन्हें सफलता हासिल नहीं हो सका। वे बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग से भी खुश नहीं हैं. प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति के द्वारा सम्मानित किये जा रहे युवाओं को देखना एक प्रेरणा के रूप में कार्य करता है.

सूफियान को इस बात का दुःख है कि स्थानीय अधिकारीयों के द्वारा उन्हें बहादूरी पुरस्कार दिया जाने की सिफारिश की गई लेकिन समाज कल्याण विभाग इस बात की तरफ ध्यान नहीं दिया। जिसे लेकर सूफियान ने नाराजगी व्यक्त की है. सूफियान सीएम से मिलकर इस कार्य के लिए समर्थन पाना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here