बिहार के सासाराम रेलवे स्टेशन पर जमकर हुआ तोड़फोड़, करोड़ों का हुआ नुकसान

0
1126

शुक्रवार को सासाराम रेलवे स्टेशन पर जमकर छात्रों ने बवाल किये हैं, उन्होंने रेलवे के निजीकरण, नौकरी नहीं होने और छटनी किये जाने के मुद्दे को लेकर बवाल किया है. सैंकड़ों की संख्या में युवाओं ने रेलवे ट्रक पर उतर कर पत्थरबाजी की और की सामानों को तोड़फोड़ डाला। उपद्रवियों के द्वारा प्लेटफॉर्म पर लगे कोच इंडिकेशन, कंक्रीट सीट, लाइट समेत अन्य समानों को भी क्षति पहुँचाया। इससे रेलवे को करोड़ो का नुकसान हुआ साथ ही प्रदर्शनकारियों न तो डीएम और न ही एसपी की बात सुनने को तैयार थे और न ही अन्य अधिकारीयों के.

छात्रों के पथराव से दर्जनों भर लोगों के घायल होने की भी सूचना प्रकाश में आई है. डीएम और एसपी समेत अन्य अधिकारी और सुरक्षकर्मी बाल-बाल बचे. भीड़ से हवाई फयरिंग भी की गई जिससे कोई हानि नहीं हुई. स्थिति को हाथ से निकलता देखकर पुलिस ने हवाई फायरिंग और आँसूं गैस छोड़ें। सूचना मिलते ही डीडीयू रेल डिवीजन के डीआरएम समेत अन्य अधिकारी भी सासाराम पहुंचे और पूरी घटना की जानकारी ली. गौरतलब है कि इस मामले में आधा दर्जन से भी अधिक लोगों के गिरफ़्तार जाने की सम्भावना जताई जाती है.

वहीँ युवाओं और छत्रों का कहना है कि निजीकरण और तेजस जैसे ट्रेन चलनों से छात्रों को नौकरी नहीं मिल सकेगी। रेलवे रोजगार देने के मामले में सरकार का एक बड़ा क्षेत्र है. सरकार इसका निजीकरण नहीं करें। ताकि युवाओं को रोजगार मिल सके. इन्हीं मांगों को लकीर छात्रों ने रेलवे ट्रैक को जाम किया और प्रदर्शन एवं नारेबाजी कर रहे थे.

स्टेशन प्रबंधक उमेश कुमार के अनुसार प्रदर्शनकारी छात्रों को जाम खत्म करने और प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत करने के लिए बार-बार अनुरोध कर रहे थे लेकिन कोई भी छात्र इस के लिए राजी नहीं थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here