सावन में अद्भूत संयोग, सोमवार से ही होगी सावन की शुरुआत और सोमवार को ही होगा रक्षाबंधन

0
641

सावन का महीना हिंदू धर्म के लिए सबसे पवित्र महीना माना जाता है. इस महीने में लोग भक्ति भाव में डुवे रहते हैं भगवान भोलेनाथ को याद करते हैं. इस बार सावन में बहुत ही अद्भूत संयोग बन रहा है. इस बार सावन की शुरुआत भी सोमवार से होगा और समापन भी सोमवार को ही होगा. रक्षाबंधन का त्योहार भी सोमवार को ही मनाया जाएगा. इस बात पांच सोमवार होगा जिसमें से तीन सोमवार कृष्ण पक्ष में और दो सोमवार शुक्ल पक्ष में होगा.

हिंदू धर्माचार्य़ की माने तो सावन महीने के पहले दिन व अंतिम दिन सोमवार पडऩा शुभ माना जाता है. सावन में सोमवार का विशेष महत्व रहता है. उन्होंने कहा कि झारखंडी महादेव की पूजा से सभी प्रकार के रोग व बाधाओं से मुक्ति मिल जाती है. उन्होंने बताया कि इस बार देवशयनी एकादशी एक जुलाई से चातुर्मास का आरंभ हो गया है. मान्यता है कि इस तिथि से श्रीहरि चार माह तक योग निद्रा में लीन रहते हैं. इस बार चातुर्मास की अवधि 148 दिन की रहेगी. 25 नवंबर को देवोत्थानी एकादशी को श्रीहरि योग निद्रा से जागेंगे.

इस बार कोरोना वायरस के कारण बाबा बैद्दनाथ का पट भी इस बार भक्तों के लिए बंद रहेगा वहीं वाणावर पहाड़ पर भी भगवान भोले नाथ का पट भक्तों के लिए बंद रहेगा. दोनों ही जगह जिला प्रशासन और मंदिर समितियों के द्वारा लिए गए निर्णय के बाद से यह फैसला लिया गया है. बिहार में कोरोना की रफ्तार दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. मंदिर प्रशासन ने भी लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा है इसके साथ ही भक्तों को अपना ख्याल रखने को कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here