एनडीए में तय हुआ सीट शेयरिंग का फॉमूर्ला, लोजपा लड़ेगी इतनी सीटों पर !

कोरोना वायरस की महामारी के बीच सत्ताधारी एनडीए के बीच सीट शेयरिंग का मामला सुलझता हुआ नजर आ रहा है. वैसे तो लोजपा प्रमुख चिराग पासवान नीतीश सरकार पर लगातार प्रहार करते दिखाई दे रहे हैं लेकिन राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि ये चिराग पासवान की प्रेशर पॉलिटिक्स का हिस्सा है. वैसे इन दिनों सीएम नीतीश कुमार और चिराग पासवान के बीच बातचीत शुरु हो चुकी है. खुद चिराग के पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने इस तथ्य को स्वीकार किया है कि निरंतर चिराग और नीतीश के बीच चर्चा हो रही है.

महागठबंधन की तर्ज पर सीट शेयरिंग

चिराग पासवान की चाहत है कि एनडीए में उसी प्रकार से सीट शेयरिंग हो जैसे पिछले चुनाव में महागठबंधन में हुआ था. यानी की जिस तरह से राजद और जदयू ने आपस में 101 और 101 सीटें बांट कर 41 सीटें कांग्रेस को दिया था ठीक वैसे ही एनडीए में भी होना चाहिए. यानी कि चिराग की चाहत है कि जदयू भी 101 सीटों पर लड़े और भाजपा भी. इसके बाद लोजपा को 41 सीटें दे दी जाए लेकिन नीतीश कुमार इसके लिए तैयार नहीं थें. अब खबर है कि भाजपा ने त्याग का मन बना लिया है.

लोजपा लड़ेगी 35 सीटों पर

हालांकि अभी इस खबर की पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन सूत्रों का कहना है कि लोजपा अधिकतम 35 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी. भाजपा 90 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और बाकी 118 सीटों पर जदयू के उम्मीदवार मैदान में होंगे. इसके पहले नीतीश कुमार की चाहत थी कि उनकी पार्टी 130 सीटों पर चुनाव लड़े लेकिन भाजपा ने मध्यस्थ की भूमिका निभा कर एनडीए की सीट शेयरिंग को फाइनल कर दिया है. उम्मीद है कि जल्द ही एनडीए के सीटों की साफ तस्वीर सार्वजनिक हो जाएगी. वैसे इस दौरान चिराग पासवान के राजनीतिक कौशल की दाद देनी होगी कि उन्होंने कितनी चतुराई से नीतीश कुमार से लगभग अपनी बातों को मनवा लिया है, हालांकि कई जानकारों का अभी भी यह कहना है कि लोजपा 40 सीटों से कम पर कतई नहीं मानने जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here