बिहार में कोरोना की स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने लिखी चिट्ठी, कहा संक्रमण रोकने के प्रयासों में लाएं तेजी

0
236

बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में एक दिन में कोरोना संक्रमण के मामले 1 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है. आपको बता दें कि पिछले 48 घंटे में डेढ़ हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों के बढते मामले को देखते हुए केंद्र सरकार भी एक्शन में आ गई है. केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को कोरोना के लेकर एक पत्र लिखा है.

केंद्र सरकार द्वारा लिखे गए पत्र में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण रोकने के प्रयासों में तेजी लाने को कहा गया है. इसके साथ ही केंद्र ने महगामारी से निपटने के दिशा में समन्वय और समीक्षा को लेकर बिहार के लिए एक बहु-विषयक टीम भी तैयार करने का फैसला किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बिहार के साथ ही पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में भी कोरोना के मामलों को लेकर पत्र लिखा है.

केंद्र की चिट्ठी में लिखा गया है कि नए मामलों के कम से कम 80 प्रतिशत संपर्क का पता लगाना और संक्रमण की पुष्टि होने पर 72 घंटे के भीतर आइसोलेशन करना सुनिश्चित किया जाए. इससे पहले बीते दिन शुक्रवार को यह खबर सामने आई कि स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के नेतृत्व में 3 सदस्यीय स्पेशल टीम रविवार को बिहार आएगी.

आपको बता दें कि प्रदेश में पिछले 72 घंटे में 3 हजार मामलों की पुष्टि हो चुकी है. जबकि 25 लोगों की मौत हो चुकी है. प्रदेश में कोरोना के मामलों को देखते हुए 31 जुलाई तक लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. बिहार में कोरोना मरीजों के संक्रमण में जबरदस्त तेजी देखी जा रही है. बिहार में 24967 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिसमें से 14 हजार से ज्यादा लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि 201 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here