Video: 7 ऐसे खिलाड़ी जिन्हें world cup का सबसे बड़ा अवार्ड मिला है, सचिन और युवराज भी शामिल

0
954

ICC World Cup 2019 शुरू होने में अब कुछ ही दिन बाकी रह गया है। साल 1975 में शुरू हुए क्रिकेट विश्व कप का ये 12वां सत्र है जो इंग्लैंड और वेल्स में खेला जाएगा। जो भी खिलाडी इस विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करेगा उसको सबसे अधिक अहमियत देने वाला “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” अवार्ड से नवाजा जाता है। हम आपको उन खिलाडियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें विश्व कप का सबसे बड़ा अवार्ड मिला है –

मार्टिन क्रो : साल 1992 के विश्व कप में न्‍यूजीलैंड के मार्टिन क्रो जिन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए 456 रन बना दिया था वो इस टीम के कप्तान होने के साथ-साथ कॉमेंटेटर भी रह चुके हैं। हालांकि, साल 1992 में न्‍यूजीलैंड टीम तो विश्व कप नहीं जीत पायी थी, लेकिन टीम के कप्तान मार्टिन क्रो ने अपनी बल्लेबाज़ी से “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” का अवार्ड अपने नाम कर लिया था।

सनथ जयसूर्या : इन दिनों ICC से बैन झेल रहे श्रीलंका के बेहतरीन और हरफनमौला सनथ जयसूर्या भी विश्व कप में अपने खेल से सबको चौका चुके हैं। श्रीलंका टीम के लिए साल 1996 का वर्ल्ड कप बहुत बेहतरीन रहा था। इस साल ये टीम चैंपियन बनी थी और जयसूर्या को टूर्नामेंट में 221 रन और सात विकेट लेने के कारण से “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” का अवार्ड भी दिया गया था।

लांस क्‍लूजनर : साल 1999 के विश्व कप में साउथ अफ्रीका के लांस क्‍लूजनर को “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” से अवार्ड से नवाजा गया था, जो आक्रामक बल्लेबाज़ी के लिए भी मशहूर हैं। इस टूर्नामेंट में उन्होंने 281 रन और 17 विकेट भी हासिल किया था।

सचिन तेंदुलकर : भारतीयों के साल 2003 का विश्व कप कई यादें हुआ है। इन यादों में सबसे बड़ी याद खुद सचिन तेंदुलकर हैं। इस साल के विश्व कप में पूरी दुनिया ने ये जान लिया था कि लोग उन्हें क्यों क्रिकेट का भगवान समझते हैं। 2003 विश्व कप के सेमीफइनल में मारा गया उनका छक्का अभी तक लोगों के ज़ेहन में ताज़ा है। सचिन तेंदुलकर ने साल 2003 के विश्व कप में 673 रन एवं 2 विकेट हासिल किया था। आज तक के विश्व कप में किसी भी खिलाड़ी का ये बेस्ट स्कोर है। हालांकि, इस विश्व कप के फाइनल मैच में टीम इंडिया ने कामयाभी नहीं पाई लेकिन इन्होने अपनी शानदार प्रदर्शन से “प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट” के अवार्ड को जीत लिया था।

ग्‍लेन मैक्ग्रा : साल 2007 के विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ की बैकबोन रह चुके ग्‍लेन मैक्ग्रा को “प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट” के अवार्ड से चुना गया था। उन्होंने इस टूर्नामेंट में 26 विकेट अपने नाम करके विपक्षियों को चौंका कर रख दिया था।

युवराज सिंह : भारतीय टीम के लिए साल 2011 का विश्व कप बहुत ज्यादा ख़ास रहा है। 2003 के विश्व कप में मिली हार और 2007 के विश्व कप में खराब टूर्नामेंट होने के बाद 2011 का विश्व कप में भारतीयों के बहुत कुछ करने का अवसर था। इस साल भारतीय टीम ने विश्व कप भी जीता एवं मध्यक्रम के आक्रामक बल्लेबाज़ युवराज सिंह को “मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट” अवार्ड मिला था। युवराज सिंह ने इस टूर्नामेंट में 362 रन और 15 विकेट अपने नाम किया था।

मिचेल स्‍टार्क : साल 2015 के विश्व कप में ऑस्‍ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क ने अपनी स्विंग गेंदों से बल्लेबाज़ों को हिला कर के रख दिया था। इस तेज गेंदबाज ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 22 विकेट लिए थे और इन्हें “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” का अवार्ड भी दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here