skip to content

‘सीधा इग्नोर कर देता हूं…’, तिहरा शतक जड़ने के बाद शॉ ने दी प्रतिक्रिया

Bihari News

पृथ्वी शॉ ने रचा इतिहास, बना दिया रणजी इतिहास का रिकॉर्ड-स्कोर

मुश्किल समय से गुजर रहा था खिलाड़ी लेकिन हार नहीं मानी, अब तिहरा शतक जड़कर रच दिया इतिहास

भारत का सलामी बल्लेबाज, जिसकी कप्तानी में जीते अंडर-19 वर्ल्ड कप

राष्ट्रीय टीम ने दिए गिने चुने मौके, अब बना दिया टूर्नामेंट का दूसरा उच्चतम स्कोर

 टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज Prithvi Shaw(पृथ्वी शॉ) ने रणजी ट्रॉफी में असम के खिलाफ तिहरा शतक जड़कर तहलका मचा दिया है, हालांकि उन्होंने चौथा शतक भी लगा ही दिया था, वो 21 रन दूर थे जब स्पिनर Reyan Parag (रेयान पराग) ने उन्हें LBW कर दिया. पृथ्वी शॉ ने शानदार पारी खेलकर ना सिर्फ चयनकर्ताओं की अपनी याद दिला दी है बल्कि रिकॉर्ड बुक में भी अपना नाम दर्ज करवा लिया है.

पृथ्वी शॉ ने पेश की दावेदारी

दरअसल, मुंबई और असम के बीच मैच खेला जा रहा था, असम के कप्तान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का निर्णय लिया लेकिन उनको शायद ये पता नहीं था कि उनका ये निर्णय उनकी टीम पर कितना भारी पड़ने वाला है क्योंकि मुंबई के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ कुछ और ही ठान कर आए थे. उन्होंने कप्तान Ajinkya Rahane(अजिंक्य रहाणे) के साथ तीसरे विकेट के लिए 401 रनों की साझेदारी की. रहाणे भी 191 रन बनाकर आउट हुए लेकिन पृथ्वी शॉ ने 379 रन बनाकर महफिल लूट ली. पृथ्वी शॉ की खास बात ये रही कि पारी की अंतिम गेंद तक उनका अंदाज नहीं बदला. उन्होंने 383 गेंदों पर 49 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 379 रन बना डाले. यह रणजी ट्रॉफी इतिहास का दूसरा सबसे उच्चतम व्यक्तिगत स्कोर है. पृथ्वी शॉ की पारी की बदौलत मुंबई की टीम ने 687/4 पर पारी घोषित की. रणजी इतिहास में सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाने का रिकॉर्ड महाराष्ट्र के Bhausaheb Nimbalkar(भाउसाहेब निम्बालकर) के नाम है, उन्होंने सौराष्ट्र के खिलाफ 1948/1949 रणजी सीजन में 443 रनों की नाबाद पारी खेली थी.

पृथ्वी शॉ लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं और लगता है कि आगामी विश्व कप के लिए उन्होंने अपनी भी दावेदारी पेश कर दी है. और आने वाले समय में हम पृथ्वी शॉ को टीम इंडिया की ब्लू जर्सी में देख सकते हैं. आपको तो पता ही है, वनडे वर्ल्ड कप 2023 अक्टूबर-नवंबर में भारत में ही खेला जाएगा. जिस तरह से ईशान किशन ने दोहरा शतक लगाकर टीम में एंट्री ले ली उसी तरह पृथ्वी शॉ ने भी तिहरा शतक लगाकर चयनकर्ताओं को सोचने पर मजबूर कर दिया है. अब वो चाहकर भी पृथ्वी शॉ को इग्नोर नहीं कर पाएंगे.

तिहरा शतक जड़ने के बाद क्या बोले शॉ 

लेकिन जब पृथ्वी शॉ से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इग्नोर करने वाली बात कह दी. शॉ ने Star Sports पर कहा, ‘मैं क्या कर सकता हूं? सीधा इग्नोर कर देता हूं. मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं जो लोगों के बारे में नकारात्मक बातें करना पसंद करता हो. कभी-कभी, जब आप अपने बारे में ऐसी चीजें देखते हैं या ऐसी चीजें सामने आती हैं जो सही नहीं है, तो दुख होता है. लेकिन आपको चीजों को अपने हिसाब से लेने और अपनी खुद की प्रक्रिया का पालन करने की जरुरत है.’

पृथ्वी शॉ ने आगे कहा, ‘जब तक मैं अपने प्रदर्शन के साथ खुश हूं और मैं अपने जीवन से कैसे निपटता हूं, मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि क्या लिखा या बोला जा रहा है. अगर मैं सही हूं तो अगर कोई सोशल मीडिया पर कुछ कह रहा है, तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.’

पृथ्वी शॉ यह पारी खेलकर छाए हुए हैं. आपके अनुसार पृथ्वी शॉ को भारतीय टीम में मौका मिलना चाहिए या नहीं ? कमेंट में हमें बताएं.

Leave a Comment