श्याम रजक की 11 साल बाद हुई घर वापसी, कहा मंत्रालय मायने नहीं रखता कामों को रोका जाता था

0
182

श्याम रजक ने सोमवार को सबसे पहले विधनसभा में जाकर विधानसभा की सदस्या से इस्तीफा दे दिया. उसके कुछ ही देर के बाद उन्होंने राबड़ी देवी के आवास पर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. उन्हे तेजस्वी यादव ने पार्टी की सदस्यता दिलवाई है. आपको बता दें कि श्याम रजक 2009 में राजद छोड़कर जदयू का दामन था उसके बाद वे लगातार नीतीश सरकार में मंत्री रहे लेकिन 11 साल वाल उनका जदयू से भी मोह भंग हो गया और एक बार फिर से वे राजद में शामिल हो गए.

इस दौरान श्याम रजक ने कहा कि मंत्रालय मेरे लिए मायने नहीं रखता. मेरे कामों को रोका जाता था. मुझे कुंठा होती थी. उद्योग विभाग मरने की स्थिति में थी हमने उसे जिंदा किया है. श्याम रजक के घर वापस पर बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि श्याम रजक जी का पार्टी में हम लोग स्वागत करते हैं, अभिनंदन करते हैं. श्याम रजक जी अपने असली घर में आये हैं इसकी हमें खुशी है. जनता दल यू हो या डबल इंजन की सरकार हो जिस प्रकार से बिहार की सरकार चल रही है उससे यह साफ हो गया है कि जनप्रतिनिधयों का महत्व खत्म ही गया है.

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि वे अपनी मर्जी से राजद ज्वाइन किए हैं. कई बार लोगों ने कहा है कि कि नीतीश कुमार से बड़ी नाराजगी है. सीएए, 370 या फिर ट्रिपल तलाक का मामाला हो, एस/एसटी के आरक्षण को समाप्त किया गया हो लेकिन नीतीश कुमार चुप्प है. तेजस्वी यादव ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं जिसे नीतीश कुमार ने ठगा नहीं. चाहे वह जॉर्ज जी हो, दिग्विजय सिंह जी हों, जीतन राम मांझी जी हो. सबको नीतीश कुमार ने ठगा है. नीतीश कुमार बिहार में विकास के पर्याय नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here