बिहार का सिद्धांत ‘डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एग्नाईट अवार्ड’ के लिए हुआ चयनित

0
433

बिहार(Bihar) के सरकारी विद्द्यालओं के शिक्षा व्यवस्था पर अक्सर ही प्रश्न खड़ा किया जाता है और इस स्कुल में पढ़ने वाले बच्चे समाज में उसी तरह का जीवन व्यतीत करते हैं, मानो वे अपने ही समाज से कटे हों. वो अलग बात है कि फिर उसी समाज के लोगों का इसी सरकारी स्कूल में शिक्षक बनने के लिए ताँता टूटता हो. चाहे जो हो, सरकारी विद्द्यालओं में प्रतिभा नहीं खिलती इस बात को झुठलाया नहीं जा सकता है.

इसी का एक उदाहरण राजकीय प्लस टू उच्च विद्यालय राणाबिगहा का एक नौवीं कक्षा का एक छात्र सिद्धांत (Sidhant) है. सिद्धांत ने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एग्नाईट अवार्ड प्रतियोगिता जो तीन अगस्त को आयोजित की गई थी, में भाग लिया था। इस प्रतियोगिता में देश के 544 जिले के लगभग 60 हजार छात्रों ने हिस्सा लिया था। देशव्यापी इस प्रतियोगिता में बिहार के नालन्दा (Nalanda) का रहने वाला सिद्धांत चयनित हुआ. इस अवसर पर सिद्धांत के परिवार में ख़ुशी का माहौल है.

नालंदा के सांसद कौशलेन्द्र कुमार (Kaushlendra Kumar) सहित शहर के मुख्य लोग और अन्य लोगों ने सिद्धांत को बधाई देने के साथ ही उसके उज्जवल भविष्य की कामना की. सिद्धांत ने अपने प्रतिभा से अपने क्षेत्र के साथ ही साथ पूरे राज्य का नाम रौशन किया है साथ ही वह छात्रों एक बीच प्रेरणास्त्रोत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here