CM नीतीश कुमार के गृह जिले में सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां, बार बालाओं के साथ तमंचे पर डिस्को

0
246

बिहार में कोरोना वायरस से लोग प्रतिदिन 1000 से ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं वहीं बारिश और वज्रपात से भी लोगों की जान जा रही है. कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा जा रहा है. लेकिन मुख्यमंत्री के गृह जिले में इसका कोई असर नहीं दिख रहा है. नालंदा के भागन बीघा थाना के बोकना गांव में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस दौरान कई लोग हाथ में तमंचा लहराते हुए बार बालाओं के साथ जमकर डांस किया. जबकि पूरे बिहार में 31 जुलाई तक लॉकडाउन का ऐलान किया गया है.

इस पूरे मामले को लेकर बताया जा रहा है कि कार्यक्रम शुरू होने से पूर्व डीएम योगेंद्र सिंह को गुप्त सूचना दी गयी थी. इसके बाद डीएम के आदेश पर स्थानीय पुलिस द्वारा गांव में जाकर कार्रवाई के नाम पर महज खानापूर्ति की गई. पुलिसकर्मी डांट- फटकार कर बापस लौट गये. जिसके बाद गांव वालों का मनोबल और बढ़ गया. फिर क्या इधर पुलिस थाने लौटी और उधर गांव मे फिर से कोरोनकाल में आधी रात तक जमकर सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ. कार्यक्रम आयोजित कराने वालो में कुछ शराब माफिया भी बताये जा रहे हैं.

आपको बता दें कि इस कार्यक्रम का आयोजन बोकना गांव में सरकारी स्कूल के पास आयोजित किया गया और जमकर बार बालाओं से भोजपुरी अश्लील गानों पर ठुमके लगवाए गए. यह कार्यक्रम बिना किसी शादी फंक्शन या बिना किसी पर्व-त्योहार का आयोजित कराया गया था. सांस्कृतिक कार्यक्रम कराने की सूचना के बाद डीएसपी विधि व्यवस्था संजय कुमार ने मामले को संज्ञान में लिया और त्वरित कार्रवाई कर सूचना देने की आदेश जारी किया. जिसके बाद स्थानीय पुलिस वरीय अधिकारियों के दबाव में आकर गांव में पहुंची और वहां से समान जप्त करने की प्रक्रिया देर रात तक जारी रही. बताया जा रहा है जहां नाच प्रोग्राम का आयोजन किया था वहां शराब की बोतलें भी बरामद होने की सूचना मिली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here