बिहार महागठबंधन में चल रहे सियासी उठा पटक के बीच सोनिया गांधी ने आज बुलाई सर्वदलीय बैठक

0
329

इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस लिया है. बिहार महागठबंधन में सीटों को लेकर खिंचतान जारी है. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी महागठबंधन में सीटों और अपने नेता चुनने को लेकर नाराज चल रहे हैं. इसके साथ ही वह समन्वय समिति की मांग कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कह दिया है कि अगर उनकी मांग को लेकर अगर कोई जल्द फैसला नहीं लिया गया तो वे अपनी पार्टी का जदयू में विलय कर लेंगे. ऐसे देखना यह दिलचस्प हैं कि आज होने वाली बैठक के बाद क्या निर्णय निकल कर सामने आता है.

यह कोई पहली बार नहीं है कि जीतन राम मांझी ने समन्वय समिति की मांग की हो इससे पहले भी वे लोकसभा चुनाव के समय उन्होंने इसी तरह की मांग की थी. इस बार मांझी ने राजद पर मनमानी का आरोप लगाते हुए अल्टीमेटम दिया था कि यदि 25 जून तक महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं बनती है तो फैसला लेने के लिए स्वतंत्र होंगे. इसी यह खबर भी सामने आई है कि वे जदयू में विलय हो जाएंगे जदयू के तरफ से उनका स्वागत भी किया जा चुका है.

बिहार में सियासी उठा पटक के बीच जीतन राम मांझी मंगलवार को सोनिया गांधी से मुलाकात करने के लिए दिल्ली चले गए. लेकिन दिल्ली में उनकी सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं हो पाई. पार्टी सुत्रों की माने तो उनकी मुलाकात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से हुई है. मांझी ने बिहार की राजनीतिक हालात के बारे में अहमद पटेल को बताया है. साथ ही राजद द्वारा किए जा रहे मनमानी के बारे में भी कांग्रेस से शिकायत की है. हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिस रिजवान ने बताया कि उन्होंने बताया कि बुधवार को सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बैठक में तय होगा कि सहयोगियों को आगे क्या और कैसे करना है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here