विशेष राज्य के दर्जे पर बीजेपी का क-रारा पलटवार, राजद भी कूदे इस जं-ग में

0
343

भाजपा और जदयू भले ही गठबंधन में हो लेकिन दोनों के बीच कई मुद्दों पर बिलकुल ही नहीं जमती है. और जब बात बिहार के विशेष राज्य की दर्जे की आती है तो राजनीतिक बयानबाजी के तीखी तंज शुरू हो जाती है.

जेडीयू ने एक बार फिर बिहार के विशेष राज्य का मुद्दा उठाया है जिसे लेकर भाजपा के नेता के द्वारा तंज शुरू हो गए. जेडीयू के सांसद दिनेश चंद्र यादव ने मुद्दा उठाया है कि बिहार विधानसभा में सभी राजनीतिक दलों के द्वारा बिहार को विशेष राज्य दिए जाने के प्रस्ताव पर समर्थन प्राप्त हो चुका था. इसी पर पलटवार करते हुए बीजेपी के राज्यसभा सांसद और बिहार भाजपा के पूर्व अध्यक्ष गोपालनारायण सिंह ने इस मुद्दे पर हमला बोलते हुए कहा है कि बिहार में जेडीयू के पास अब कोई दूसरा मुद्दा नहीं रह गया है. इसलिए ये मुद्दा उठाते हैं अब जेडीयू के पास से जात-पात और मुस्लिम कार्ड से खेले जाने का मुद्दा गायब हो गया है. तभी तो रह-रह कर जेडीयू यह मुद्दा उठा लेता है.

गोपालनारायण सिंह ने बिहार के व्यवस्था और प्रशासन पर तंज मारते हुए कहा कि बिहार में सभी टैक्स रिसोर्सेज को बंद कर दिया गया है. शराब-बंदी तो हुआ है मगर सिर्फ नाम के लिए। सरकार के पास न तो रेवेन्यू आ रहा है और न ही विकास हो रहा है. वहीँ बीजेपी सांसद ने बिहार के नवयुवकों को हथियार बनाकर सरकार पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि बिहार के नवयुवक प्रदेशों में भागे-फिर रहे हैं, रोजगार के लिए और सरकार इन मुद्दों से हटकर बार-बार एक ही मुद्दों को दोहराती है.

इस मांग को लेकर राजद ने भी दोतरफा वा-र किया है. राजद के मुख्य प्रवक्ता और राजयसभा सांसद मनोज झा ने कहा है कि बिहार के विशेष राज्य का दर्जा जेडीयू के लिए एक फुटबॉल की भाँति हो गया है। जिसे जेडीयू जब-तब उछलता रहता है. आरजेडी इस मुद्दे को आगे बढ़ाये जाने के पक्ष में दावा कर रही है.
राजनीति में दिया हर बयान राजनीति को प्रभावित करता है. पहले भी इस मुद्दे को लेकर सियासत तेज हुई थी फिलहाल आगामी विधानसभा के जीत के लिए यह कोई दमदार मुद्दा नहीं रहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here