अब निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर और स्टाफ का होगा 50 लाख का बीमा

0
78

भारत समेत विश्व में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. बिहार में प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 3000 के पार पहुंच रही है. बिहार में अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 90 हजार के पार पहुंच गया है. राहत की खबर यह है कि अब बिहार में 80 हजार से ज्यादा कोरोना सैंपल की जांच प्रतिदिन हो रही है. ऐसे में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है. बिहार में निजी अस्पतालों को भी कोरोना की जांच की अनुमति दी गई है. ऐसे में अब भारत सरकार के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत 50 लाख रुपये बीमा का लाभ निजी अस्पतालों के डॉक्टरों और कोविड मरीजों का उपचार कर रहे अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को भी मिलेगा.

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि इस योजना का लाभ उन निजी अस्पतालों के डॉक्टरों, नर्सों, पारा मेडिकल स्टाफ एवं कर्मियों को मिलेगा, जिनकी असामयिक मृत्यु कोरोना मरीजों के उपचार के दौरान होगी. इसका लाभ जिला प्रशासन द्वारा चिह्नित निजी अस्पतालों को ही मिलेगा. सूबे में अभी ऐसे 120 अस्पताल चिह्नित किए हैं. उन्होंने कहा कि इस योजना से निजी क्षेत्र में कार्यरत चिकित्साकर्मियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा.

बीबीसी की एक खबर की माने तो बिहार में डॉक्टरों की संख्या सबसे कम है जबकी प्रदेश में कोरोना से सबसे ज्यादा डॉक्टरों की मौत हुई है. इधर बिहार सरकार ने एलान किया है कि कोरोना काल में जान गंवाने वाले डॉक्टरों और सामान्य मरीजों के परिजनों को मुआवजे की राशि बहुत जल्द भुगतान किया जाएगा. बताया तो यह भी जा रहा है कि 15 अगस्त तक सभी लंबित पड़े भुगतान के मामलों को पूरा कर लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here