सुशील मोदी के कटाक्ष पर कुशवाहा का पलटवार, कहा-गेट मत बंद करवाइएगा, प्लीज

0
313

रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा बीते पांच दिनों से आमरण अनशन कर रहे थे, इस दरम्यान उनकी तबीयत बिगड़ गई और वे दिल्ली इलाज के लिए रवाना होंगे। बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कुशवाहा के द्वारा केंद्रीय विद्द्यालय बनवाने को लेकर अनशन किये जाने पर टिप्पणी की थी. उसी टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कुशवाहा ने ट्वीट किया है कि उनके केंद्रीय मंत्री होते हुए भी छह जिलों में केवी शुरू करने के लिए प्रस्ताव माँगा गया था मगर राज्य सरकार ने नहीं भेजा।

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट करते हुए कहा कि श्री सुशील मोदी जी ने एनटीपीसी नवीनगर में केंद्रीय विद्यालय खोलवाया। नवादा और देवकुंड में भी स्वीकृति दिलवाई, आपने रोका। अरवल, मधुबनी, सुपौल, कैमूर, मधेपुरा और शेखपुरा के लिए मंत्रालय की योजना में शामिल किया और प्रस्ताव माँगा, लेकिन आपने नहीं भेजा। वहीँ डेहरी/अकोढ़ीगोला का भी प्रस्ताव आपने रोक दिया।

उपेंद्र कुशवाहा ने दूसरा ट्वीट किया और उस तित के द्वारा कहा कि अभी मैं इलाज लिए दिल्ली जा रहा हूँ. दूसरे सप्ताह आपके आवास पर प्रमाणसहित लौटूंगा। गेट मत बंद करवाइएगा, प्लीज।”

भाजपा के नेता सुशील मोदी ने उपेंद्र कुशवाहा के आमरण अनशन पर तंज कसते हुए कहा था कि पांच साल केंद्र में होने के बाद भी बिहार में एक भी केंद्रीय विद्द्यालय नहीं खुलवा सके. मंत्री होते हुए कार्य किये जाने के बजाय शिक्षा पर धरना-प्रदर्शन की जो तमाशा-राजनीति उन्होंने आरंभ की, उसे ‘आमरण अनशन’ के क्लाइमेक्स पर पहुंचाया।
सुशील मोदी ने कुशवाहा से कहा कि अनशन तोड़ने के लिए उन साथियों पर भरोसा किया जो 15 साल मने बिहार को केंद्रीय विद्द्यालय नहीं, केवल चरवाहा विद्द्यालय दे पाया।

बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा का अनशन राजद नेता तेजस्वी यादव और वरिष्ठ समाजवादी अधिकारी पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव ने जूस पिलाकर समाप्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here