5 सालों में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद की उम्र हुई दोगुनी, ऐसे हुआ खुलासा

0
168

बिहार में नए सरकार के गठन के बाद भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी का मुद्दा तेज हो गया है। विपक्ष जहां नीतीश के मंत्री और बिहार के मौजूदा डिप्टी सीएम पर हमला बोलते हुए दिख रहे हैं वहीं तेजस्वी यादव को भी जदयू के नेताओं ने नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी छोड़ देने को लेकर सलाह दे डाली है। बहरहाल नए मंत्रियों के आने के बाद बिहार में हेराफेरी का मामला काफी टूल पकड़ रहा है।


बिहार के डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद के उम्र को लेकर मुद्दा गरमाया है। विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए नामांकन के समय दाखिल किए जाने वाले शपथ पत्र के आधार के मुताबिक उनकी उम्र पिछले पांच साल में दोगुने से भी ज्यादा बढ़ गई है। चुनाव के दौरान दिए गए उनके शपथ पत्र में पिछले पांच साल में 12 साल की बढ़ोतरी हो गई है।

सूत्रों के मुताबिक विभिन्न चुनावों में उम्मीदवार बनने के दौरान अलग अलग शपथ पत्र में अलग अलग जन्म तिथि दी है।
साल 2010 में उनकी उम्र 49 सामने आयी थी वहीं 2015 में उनकी उम्र में तीन साल की ही बढ़ोतरी हुई और वे 52 साल के हुए वहीं साल 2020 में जो शपथ पत्र दाखिल हुआ उसके मुताबिक उसके अनुसार उनकी उम्र 64 हो गई है। इस तरह 2015 और 2020 के दौरान 12 साल की बढ़ोतरी हो गई है।


वहीं तारकिशोर प्रसाद ने इस मामले में कहा है कि बेवजह उनकी उम्र को टूल दिया जा रहा है। उनकी उम्र 5 जनवरी 1956 है। उन्होंने कहा है कि शपथ पत्र के साथ ही साथ मैट्रिक का भी प्रमाण पत्र दिया जाता है जिसमें उम्र संबंधी जानकारी रहती है। उन्होंने इस मामले में कहा है कि संभवतः मानवीय भूल हुई हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here