तेजस्वी यादव ने CM नीतीश कुमार को खुली बहस की चुनौती देते हुए भष्टाचार का भीष्म पितामह कहा

0
109

बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोपालगंज के बैकुठपुर में 509 करोड़ रुपये से बनकर तैयार हुए पुल का उद्घाटन किया. इसके साथ ही उन्होंने 217 अन्य योजनाओं का भी उद्घाटन किया. इधर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बंगरा घाट पुल के एप्रोच पथ टूटने को लेकर सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि पिछले कुछ सालों में पथ निर्माण विभाग में जमकर भ्रष्ट्राचार हो रहा है. उन्होंने कहा कि राजस्व की लूट हो रही है. सीएम नीतीश कुमार चुप बैठे हैं. इसके साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार को खुली बहस के लिए चुनौती दे डाली.

तेजस्वी ने आगे बोलते हुए कहा कि कभी बांध को चूहा काट लेता है कभी बांध बह जाता है. आज तो मुख्यमंत्री जी ने इतिहास रचने का काम किया है. उद्घाटन के दिन पुल का पहुंच पथ धंस गया. हम जब सवाल उठाते हैं तब सरकार कहती है हम गलतबयानी करते हैं. ऐसा कहीं भी नहीं हुआ. आखिर इतनी जल्दबाजी में नीतीश कुमार क्यों हैं. इसी दौरान तेजस्वी ने नीतीश कुमार को भ्रष्ट्राचार का भीष्म पितामह तक बता दिया.

तेजस्वी यादव ने कहा कि प्रदेश में राजस्व की लूट मची हुई है. यही वह कारण है जिसके चलते एक बिहार पर 30 हजार से अधिक कर्ज होता जा रहा है. उन्होने कहा कि नीतीश कुमार श्वेत पत्र जारी करे. पुल के एप्रोच रोड टूटने के मामले में सरकार यह भी बताये कि जब प्रदेश में हमारी सरकार थी तो उस समय केंद्र में एनडीए की सरकार थी उस सरकार में मुख्यमंत्री बतौर मंत्री शामिल थे. उस सरकार ने 1999 से 2004 तक बिाहर को क्या दिया.

तेजस्वी ने कहा कि 12 दिन पहले इस पुल का एप्रोच रोड टूट गया था उसे आनन-फानन में दुरुस्त किया गया. लेकिन आज फिर से टूट गया. हमलोग सवाल पूछ रहे हैं लेकिन सरकार जवाब देने से बच रही है. उन्होंने तल्ख लहजे में कहा कि जब नीतीश कुमार उद्घाटन कर रहे हैं तब जिम्मेदारी उनकी है. या तो वो इस्तीफा दें या फिर मुझसे खुली बहस करें.

तेज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here