तथ्यों की राजनीति में तेजस्वी बढे आगे, पुराने ट्वीट पर कहा- जनता को बरगला रहे हैं

0
255

बिहार विधानसभा चुनाव पर सबकी निगाहें टिकीं हुईं हैं. सियासी शतरंज जारी है और तेजस्वी यादव हर हाल में इस बार सत्ता पलटने पर विचार कर रहे हैं और इसके लिए तेजस्वी ने लगातार उन मुद्दों को उठाया है जो बिहार के आम जनता और युवाओं से जुड़ा हुआ है। तेजस्वी सरकार को घेरने के लिए मुद्दों को कभी तीर तो कभी बम बनाकर फेंकते हुए सक्रिय नेता प्रतिपक्ष की भूमिका बखूबी निभाई है.

चुनावी समय में उन तमाम बिंदुओं को तेजस्वी सामने लाना चाहते हैं जहाँ सरकार असफल रही है। सरकार की असफलता को दिखाने के लिए तेजस्वी केवल हवाबाजी नहीं बल्कि तथ्यों की राजनीती में आगे बढ़ चुके हैं.

एक बार फिर तेजस्वी ने युवाओं का मुद्दा उठाया है और सरकार के किये गए वायदों पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं तेजस्वी ने आज सरकार को शीघ्र की परिभाषा भी समझा दी है। तेजस्वी यादव ने छह साल पुराने ट्वीट को उठाकर इस चुनावी राजनीति में चुनावी मुद्दा के तौर पर पटका है। तेजस्वी ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के ट्वीट पर निशाना साधा है। भागलपुर और दरभंगा में सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क की शीघ्र ही स्थापना की जायेगी। यह ट्वीट रविशंकर प्रसाद ने 8 नवम्बर 2014 को की थी। जिसपर हमला बोलते हुए तेजस्वी ने पूछा है कि साहब 6 वर्ष हो चुके हैं अब शीघ्र की परिभाषा क्या होती है। 15 वर्षों में भाजपा और नीतीश की सरकार ने जनता को ठगा और उसे बेवकूफ बनाया है।

तेजस्वी ने आज सरकार से 17 सवाल भी लगे हाथ पूछ डालें हैं. तेजस्वी ने अभी ही कुछ दिनों पहले 10 सवाल की एक लिस्ट लेकर सरकार को तीर का निशाना बनाया था। सरकार इन जवाबों पर खामोश रही थी। एक बार फिर से तेजस्वी ने सवालों की सूची को उठाया है।

 

नेता प्रतिपक्ष हर हाल में जनता के नजर में यह लाने का प्रयास का रही है कि मौजूदा सरकार कितनी वादाखिलाफी है और यह जनता के भावना के साथ बस खेल रही है और उन्हें ठग रही है। तेजस्वी चुनावी समय में तेज हमलों के दवारा कहीं न कहीं जनता से मौजूदा सरकार को हटाए जाने की बार-बार अपील कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here