सुशील मोदी ने तेजस्वी पर लगाया गंभीर आरोप, मधुबनी हत्याकांड के मुख्य आरोपी को प्राप्त है तेजस्वी का संरक्षण

0
294

मधुबनी हत्याकांड के बाद बिहार की राजनीति काफी गरमा गई है. लगातार तेजस्वी यादव सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोला है और एक के बाद एक कटाक्ष किये हैं. इतना ही नहीं तेजस्वी यादव पीड़ित परिवार से मिलने भी गए और उन्होंने मदद राशि भी दी. तेजस्वी यादव ने इस पूरे मामले में प्रशासन पर भी सवाल खड़े किया।

तेजस्वी ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें मीडिया द्वारा यह पूछे जाने पर कि अपराधियों को कहाँ से गिरफ्तार किया गया , इसपर रुक रुक कर जवाब देने को लेकर तेजस्वी ने सवाल किया जैसे प्रशासन को यह पता नहीं नहीं कि कहाँ से अपराधियों को गिरफ्तार किया गया. बहरहाल अब इस पूरे मामले में नया मोड़ आता दिख रहा है. इस पूरे मामले में बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम ने तेजस्वी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि मधुबनी हत्याकांड में जिस आदमी ने इसकी साजिश रची और मुख्य आरोपी है, उसे तेजस्वी यादव का संरक्षण प्राप्त है.

हालांकि काफी दिलचस्प बात यह है कि पीड़ित का परिवार जिस शख्स का नाम ले रहा है पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. जिसका नाम प्रवीण झा है लेकिन सुशील मोदी ने कहा है कि इस पूरे मामले में बड़ा साजिशकर्ता राजेश यादव है जिसका इस मामले में कही कोई नाम नहीं है. लेकिन सुशील मोदी ने अपने जांच से यह कहा है कि राजेश यादव बेनीपट्टी राजद का प्रखंड अध्यक्ष है और प्रखंड प्रमुख का पति है. राजेश यादव का मछुआरा समिति के डम्मी सदस्यों के माध्यम से थोड़े समय पहले तक विवादित तालाब पर कब्जा रहा था। उसी तालाब पर अपना वर्चस्व बरक़रार रखने के लिए उसने सुरेंद्र सिंह और प्रवीण झा के परिवारों को लड़ाई के लिए उकसाया और उसकी ही साजिश रही थी कि दोनों परिवार आपस में लड़े-मरे और टी तालाब पर उसका कब्जा बना रहे.

सुशील मोदी ने बिहार पुलिस को कहा है कि राजेश यादव को हिरासत में लेकर उसके कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड को खंगाला जाये। क्यूंकि वह प्रवीण झा, सुरेंद्र सिंह और तेजस्वी यादव के संपर्क में रहा है. वहीँ सुशील मोदी ने कहा है कि घटना स्थल के आसपास कहीं भी जातीय तनाव नहीं है लेकिन राजद इसी राजेश यादव के माध्यम से पूरे जिले में जातीय तनाव भङङ्कणे की कोशिश कर रहा है. इसी उद्देश्य से तेजस्वी यादव महमदपुर गए थे और राजेश यादव भी साथ में रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here