चाचा नीतीश पर तेजस्वी के बाद तेजप्रताप का हमला

0
590

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले एक और शख्स का नाम सामने आगे आया है। जी हाँ, ये शख्स और को नहीं, बल्कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने अपने भाई तेजस्वी यादव के बाद मुख्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी को और खुद को मजबूत करने के लिए तेजप्रताप जमीनी स्तर पर लोगों से सीधे जुड़ने के अभियान में लगे हुए हैं। बदलाव यात्रा की शुरुआत इससे पहले उन्होंने खुद शिवहर से की है, और जनता से जुड़ने के लिए वहां भी तरह-तरह के लोगों से भी जुड़े। इसी क्रम में अभी एक बार फिर से तेजप्रताप ने नालंदा के एक कार्यक्रम में शिरक़त की, जहाँ पर उन्होंने ममता बनर्जी के मसले पर भी अपनी राय दी और सीएम पर भी हमला बोला।

सीएम नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि सीएम के गृह जिले में ही गरीबों का ही हालत खस्ता है। केवल बड़ी-बड़ी परियोजनाओं को पलटू राम चाचा ने तरजीह दी, फुटपाथी दुकानदारों तथा गरीब-गुरबों को दरकिनार कर दिया है। पलटू राम की राज्य सरकार और केंद्र की भगवा सरकार में किसी का भी भला नहीं हो रहा है। उन्होंने आगे कहा, “यहाँ गुंडों-हत्यारों और अपराधियों की मौज हो रही है, लेकिन चाचा बोलते हैं की बिहार में बहार है। चाचा का कोई ऐसा सगा नही, जिसे उन्होंने ठगा नहीं।” मंगलवार को नालंदा के राजगीर में तेजप्रताप बोल रहे थे। तेजप्रताप ने कहा कि डीएसएस (धर्मनिरपेक्ष सेवक संघ) बनाकर हम देश में आरएसएस के खिलाफ धर्मनिरपेक्षता का संदेश प्रसारित करने के लिए कमर कस चुके हैं।

ममता बनर्जी के धरने पर बैठने के मामले पर कहा कि हर किसी को अन्याय के खिलाफ प्रदर्शन, धरना व आंदोलन करने का अधिकार अभिव्यक्ति के संवैधानिक अधिकार के तहत है। तेजप्रताप ने ये बातें नालन्दा जिले के राजगीर स्थित मेला थाना मैदान में फुटपाथी दुकानदार संघ के द्वारा आयोजित एक दिवसीय कार्यक्रम में कही, इससे पहले उन्होंने हाजीपुर का भी दौरा किया था। उन्होंने इस दौरान कहा था की महिलाओं और युवापों की हालत बेहद ख़राब है, और ऐसे में वे बिहार के दौरे पर निकले हैं।

  • 1.7K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.7K
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here