करारी हार के बाद, तेजप्रताप इस दिन लगाएंगे जनता दरबार

0
1906

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव 27 मई से राजद कार्यालय में जनता दरबार लगाएंगे। इसमें तेजप्रताप आमलोग के साथ-साथ पार्टी के कार्यकर्ताओं की समस्या भी सुनेंगे। ऐसा बताया जा रहा है कि तेजप्रताप लोकसभा चुनाव में हुए हार की समीक्षा बैठक भी करेंगे। कार्यकर्ताओं से जानेंगे की चुनाव में कहाँ चूक हुई, जिससे राजद की लोकसभा चुनावों में इतनी बड़ी हार हुई है। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में तेजप्रताप और तेजस्वी यादव के बीच सीटों को लेकर मतभेद हुआ था। तेजप्रताप यादव ने शिवहर और जहानाबाद सीट पर अपने प्रत्याशी अंगेश कुमार तथा चंद्रप्रकाश को टिकट दिलाने के लिए तेजस्वी यादव को कहा था, लेकिन वो नहीं माने। अब इसका परिणाम सबके सामने है और इन दोनों ही सीटोंं पर राजद के उम्मीदवारों की पराजय हो गई है।

तेजस्वी तथा तेजप्रताप के बीच चल रहे घमासान का खामियाजा पूरे बिहार में महागठबंधन को उठाना पड़ रहा है। राजद की अगुवाई वाले महागठबंधन को लोकसभा चुनावों में 40 में से 39 सीटों पर पराजय का सामना करना पड़ा है। इस पराजय के बाद कांग्रेस एवं रालोसपा जैसे दलों ने भी सवाल उठाने करने शुरू कर दिए हैं। जहानाबाद में राजद और जदयू के बीच का चुनावी टक्कर बहुत कठिन माना जा रहा था। चुनाव परिणाम सामने आने के बाद इसकी पुष्टि भी हुई। जब सफल-असफल का फासला महज 1,711 वोटों का रहा। इस क्षेत्र से जदयू के चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी ने राजद के सुरेंद्र यादव को पराजित कर दिया। जहाँ सुरेंद्र यादव को 3,33,833 मत प्राप्त हुए, वहीँ चंदेश्वर प्रसाद को 3,35,584 मत मिला। जहानाबाद सीट से ही तेजप्रताप के प्रत्याशी चंद्रप्रकाश को 7755 मत प्राप्त हुए। आपको बता दें कि अगर इस सीट से तेजप्रताप अपने प्रत्याशी को नहीं खड़ा करते तो शायद ये सीट राजद के खाते में चली जाती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here