नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए वीर सपुतों के परीजनों को मिलेगी सरकारी नौकरी

0
321

बिहार कैबिनेट की हुई बैठक में 24 एजेंडों पर मुहर लगी है. शुक्रवार को हुई इस बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने नयी औद्योगिक नीति को स्वीकृति दी गई है. इसके साथ ही इस चीन सीमा पर शहीद हुए बिहार के लालों के परिजनों को सरकारी नौकरी देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गयी है. इसके अलावा भूतही बलान, कमला बलान के तटबंधों और कोसी नहर परियोजना के लिए 2746 करोड़ रुपये को मंजूरी दी गई है.

कैबिनेट ने लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर हुई झड़प में शहीद हुए बिहार के जवानों के एक-एक परिजन को नौकरी देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद इसका एलान किया था. इसका लाभ शहीद चंदन कुमार, शहीद अमन कुमार, शहीद जय कुमार सिंह, शहीद हवलदार सुनील कुमार और शहीद कुंदन कुमार के परिजनों को मिलेगा.

बिहार कैबिनेट की बैठक में एक और अहम फ़ैसला लेते हुए बिहार औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीति-2016 में संशोधन को मंजूरी दी गयी है. साथ ही ये तय भी किया गया कि सूबे में 500 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करने पर कुछ छूटें मिलेंगी. साथ ही न्यूनतम 25 लाख रुपये से अधिक निवेश के साथ 25 लोगों को रोजगार देने पर भी सरकार ने छूट देने पर विचार किया है. कैबिनेट की बैठक में मधुबनी के भूतही बलान तटबंध के विस्तार के लिए 48 करोड़ 43 लाख 68 हजार रुपये की स्वीकृति दी गयी है. इसके तहत कमला बलान तटबंध को ऊंचा करने सुदृढ़ करने और पक्का करने के लिए 325 करोड़ 12 लाख 32 हजार रुपये खर्च की स्वीकृति दी गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here