बिहारी छात्रों ने किया कमाल, पेट्रोल पंप पर काम करने वाले के बेटे ने UPSC में लहराया परचम

0
349

मंगलवार को UPSC के परिणाम जारी किए गए. परिणाम आने के बाद बिहारी छात्रों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. बिहार के अलग अलग जिलों में लगभग 50 छात्रों का चयन हुआ है. इस परीक्षा में भागलपुर के श्रेष्ठ अनुपम को 19 वीं रैंक मिली तो वहीं गोपालगंज के प्रदीप सिंह को 26 वीं रैंक मिली है.

गोपालगंज के रहने वाले प्रदीप सिंह इससे पहले 2018 में 93 वीं रैंक लाए थे. जिसके बाद उन्होंे इनकम टैक्स कमिश्नर के रूप में कार्यकरना शुरू कर दिया था. आपको बता दें कि प्रदीप के पिताजी पेट्रोल पंप पर नोजल मैन की नौकरी करते हैं. प्रदीप मूल रूप से हथुआ के खमन टोला के रहने वाले हैं.

भागलुपर के अनुपम के पिता ने कहा कि उनकी भी इच्छा थी कि वे सिविल सेवा परीक्षा पास करे लेकिन वे पास नहीं हो सके उन्होंने कहा कि बेटे ने मेरे अधुरे सपने को पूरा कर दिया है. अनुपम के पिता पेशे से व्यवसायी है. अनुपम की शुरूआती पढ़ाई भागलपुर से ही हुई है. उन्होंने दिल्ली आईआईटी से कैमिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई की थी.

बिहार के कई जिलों के छात्रों ने यूपीएससी में सफलता पाई है. सीतामढञी के दिपांकर चौधरी को 42 वीं रैंक मिली है. इसी तरह से ओमकांत ठाकुर को 52 वीं रैंक मिली है. जबकि सारण के आशीष कुार को 53 वीं रैंक मिली है. सारण की ही रहने वाली दिव्या शक्ति को 79 वीं रैंक मिली है. इसी जिले के अन्नपूर्णा सिंह को 194 वीं रैंक मिली है. इधऱ मधूबनी के मुकुंद को 54 वीं रैंक मिली है. पटना के प्रियांक किशोर को 61 वीं रैंक हासिल हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here