रिया चक्रवर्ती की याचिका के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा, अब इस दिन आएगा फैसला

0
150

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले में रिया चक्रवर्ती के केस ट्रांसफर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुवनाई करते हुए फैसला को सुरक्षित रखा है. आपको बता दें सुशांत सिंह राजपूत मामले में अभी यह फैसला आना बाकि है कि इस मामले की जांच मुंबई पुलिस करेगी या सीबीआई. आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को इस मामले को लेकर फैसला सुना सकती है.

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में रिया चक्रवर्ती की ओर से श्याम दीवान उपस्थित हुए तो वहीं महाराष्ट्र सरकार की ओर से अभिषेख मनु सिंघवी, बिहार सरकार की ओर से मनिंदर सिंह उपस्थित हुए तो भारत सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अपना पक्ष रखा. इसके साथ ही कोर्ट ने लिखित याचिका दाखिल करने का निर्देश भी दिया है.

सीबीआई की ओर से अपना पक्ष रखते हुए तुषार मेहता ने कहा कि इस मामले में केवल बिहार में जांच लंबित है जिसके ट्रांसफर के लिए याचिका वैध ही नहीं है. मुंबई पुलिस ने केवल अनाधिकृत बयानों की रिकॉर्डिंग पेश की है. उन्होंने यह भी कहा कि जब पुलिस ने जांच के लिए कोई एफआईआर ही दर्ज नहीं की तो वह इस तरह समन देकर 56 लोगों से पूछताछ नहीं कर सकते.

सुशांत सिंह राजपूत के पिता के वकील केके सिंह ने कहा कि वह किसी का नाम नहीं लेना चाहते लेकिन बहुत सी मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा दावा है कि सुशांत की मौत से एक दिन पहले हुई पार्टी में एक बड़े राजनीतिक नेता के बेटे शामिल थे. मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार ने कानून की हत्या की है. उन्हें वॉट्सऐप पर मिली शिकायत को संज्ञान में लेना चाहिए था.

महाराष्ट्र सरकार की ओर से पक्ष रखते हुए अभिषेक मन सिंघवी ने कहा कि क्या केवल एक जज की बेंच सुशांत के केस को सीबीआई जांच सौंप सकता है? सिंघवी ने मांग की है कि इस मामले को एक बड़ी बेंच को ट्रांसफर किया जाए और वह फैसला ले कि सुशांत केस की जांच मुंबई पुलिस करे या सीबीआई करे. उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि मुंबई पुलिस के पास फरवरी से लेकर अभी तक कोई एफआईआर नहीं है. बिहार पुलिस केवल जीरो एफआईआर ट्रांसफर कर सकती है. उन्होंने यह भी कहा कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के कारण पटना पुलिस की जांच राजनीति से प्रेरित है और चुनाव खत्म होने के बाद कोई भी इस केस की बात नहीं करेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here