रोड के लिए ग्रामीणों ने 12 किलोमीटर मानव श्रृंखला बना खोला सुशाशन बाबू का पोल

0
267

लखीसराय जिले के चार पंचायत के 21 गांव के लोगों ने सड़क निर्माण की मांग को लेकर मानव श्रृंखला बनाई. इसके साथ ही ग्रामिणों ने बिहार सरकार और जन प्रतिनिधियों के खिलाफ जम कर नारेबाजी की. इस दौरान उन्होंने रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा भी लगाया. इस प्रदर्शन में कछियाना, मोरमा और अमहरा पंचायत के साथ ही नगर परिषद के वार्ड – न. 18 के लोग शामिल हुए. आपको बता दें कि यह सड़क लखीसराय से शेखपुरा को जोड़ती है.

आपको बता दें कि लखीसराय शहर से पटना रोड से पतनेर होते हुए यह सड़क तिलोखर तक जाती है. यह सड़क करीब 12 किलोमिटर तक पूरी तरह से टुट चुकी है. इस सड़क पर इस बात का अंदाजा नहीं लगा सकते हैं कि यह सड़क है या गड्डो में सड़क है. गर्मी के दिनों में तो लोग किसी तरह से आवागमन कर लेते हैं लेकिन बरसात के समय में यह सड़क पूरी तरह से तालाब में तब्दिल हो जाता है. आपको बता दें कि इस सड़क से एक लाख की आवादी प्रभावित होती है. सड़क के मरम्त को लेकर ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों से कई बार गुहार लगाई है लेकिन अभी तक इस टुट चुकी सड़क पर न तो अधिकारी का ध्यान गया है और न ही जनप्रतिनिधियों का. ऐसे में ग्रामीण सत्याग्रह करने को मजबूर हैं.

मंगलवार को लखीसराय शहर से पचना रोड तक ग्रामीणों ने मानव श्रृंखला बना कर सड़क न बनाए जाने का विरोध किया है. इस मानव श्रृंखला में बच्चे बुढ़े और महिलाएं भी शामिल हुए थे. जिसमें इन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा. सड़क किनारे लगने वाले मोरमा, पतनेर, भैनौरा, तिलोखर, दीघा, चरोखरा, पचौता, खिरहो, डीहरा, गंगटा, जोकमैला सहित 21 गांव के लोगों ने इस आंदोलन में हिस्सा लिया. इस दौरान ग्राणीमों ने कहा कि सड़क निर्माण की मांग को लेकर क्षेत्रीय विधायक और सांसद से गुहार लगाई गई है. लेकिन अभी तक सड़क निर्माण का कार्य शुरू नहीं किया गया है. कई ग्रामीणों ने एक साथ कहा कि अगर जल्द से जल्द इस सड़क का निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो हमलोग वोट का बहिष्कार करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here