रेलवे के टाइम टेबल में हो सकता है बदलाव, इतनी ट्रेनों के साथ इतने हजार स्टापेज किये जा सकते हैं बंद

0
644

कोरोना संक्रमण के कारण पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान किया गया था. जिसके बाद से रेल व्यवस्था पूरी तरह से ठप्प पड़ गई थी. रेलवे की तरफ से कुछ चुनिंदा ट्रेनों का परिचालन शुरू किया है.लेकिन अब रेलवे की तरफ से जो खबरे सामने आ रही है उसमें बताया जा रहा है कि कोरोना काल जब समाप्त होगा और रेलवे का परिचालन एक बार फिर से शुरू होगा तो किस तरह की व्यवस्थाएं होंगी. रेल सुत्रों की माने तो रेलवे टाइम टेबल में बदलाव की किए जाने की बात कह रहा है. आपको बता दें कि रेलवे पांच सौ से अधिक ट्रेनों को बंद करने पर फैसला कर सकती है. इसके साथ ही करीब 10 हजार रेलवे स्टॉपेज भी बंद करने की बात कही जा रही है.

आपको बता दें कि रेलवे फिलहाल जिरो बेस्ड टाइम टेबल पर काम कर रहा है. जिससे अधिकारियों का मानना है कि इससे रेलवे की कमाई 1,500 करोड़ रुपये बढ़ जाएगी. रेलवे ने यह भी कहा है यह कमाई बिना किराया बढ़ाए भी बढ़ सकता है. आपको बता दें कि रेलवे इस बात पर विचार कर रहा है कि आने वाले दिनों में माल गाड़ियों की संख्या में इजाफा किया जाएगा. इसके साथ ही हाई स्पीड वाले कॉरिडोर पर 15 प्रतिशत से अधिक माल गड़ियों को चलाने के लिए जगह बनाई जाएगी. और पूरे नेटवर्क में पैसेंजर ट्रेनों की औसत गति मे लगभग 10 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है.

ट्रेनों के बंद करने को लेकर जो दलील दी जा रही है उसमें कहा जा रहा है कि जो ट्रेन एक साल में औसतन आधी खाली जाती है, उन्हें बंद करदिया जाएगा. यह भी कहा जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर ऐसी ट्रेनों को अन्य भीड़भाड़ वाली ट्रनों के साथ मिला दिया जाएगा.

वही, स्टॉपेज को बंद करने को लेकर दी गई दलील में कहा गया है कि लंबी दूरी की ट्रेनें 200 किमी के भीतर नहीं रुकेंगी, जब तक कि रास्ते में एक प्रमुख शहर न हो. इसको लेकर कुल 10 हजार स्टॉपेज को सूचीबद्ध किया गया है. जिन्हें खत्म किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here