बिहार में हो रही भारी बारिश से इन नदियों ने खतरे के निशाना को किया पार, फ्लड फाइटिंग शुरू

0
537

बिहार में मानसून सक्रिय होने के बाद से लगभग प्रतिदिन बारिश हो रही है. ऐसे में कोसी और बागमती के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है. कोसी-बागमती के बढऩे से बाढ़ प्रवण क्षेत्र के लोग दहशत में आ गए हैं. प्रशासनिक स्तर पर बाढ़ पूर्व तैयारी की गई है. बांध-तटबंधों की पल-पल निगरानी रखी जा रही है. कई संवदेशनशील और अतिसंवेदनशील बिंदुओं पर होमगार्ड के जवान तैनात किए गए हैं.

आपको बता दें कि खगड़िया के बलतारा में कोसी खतरे के निशान से सोमवार को 62 सेमी ऊपर बह रही थी. बीते 24 घंटे में जलस्तर में 49 सेमी की वृद्धि हुई है. रविवार को कोसी का जलस्तर बलतारा में 33.96 मीटर था. सोमवार को जलस्तर 34.45 मीटर दर्ज किया गया.

इधर बागमती के जलस्तर में भी लगातार वृद्धि देखी जा रही है. जल स्तर में वृद्धि के साथ ही बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. बीते 24 घंटे के दौरान 18 सेमी की वृद्धि हुई है. बागमती खगडिय़ा के संतोष स्लूईस के पास खतरे के निशान से 51 सेमी ऊपर है. बीते रविवार को संतोष स्लूईस के पास बागमती का जलस्तर 35.96 मीटर दर्ज किया गया था।सोमवार को जलस्तर 36.14 मीटर था.

इधर कोसी और बागमती के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि को लेकर बोलते हुए बाढ़ नियंत्रण अंचल संजय रमण ने बताया कि कोसी और बागमती की टेंडेंसी बढऩे की है. दोनों खतरे के निशान से ऊपर है. अभी जलस्तर में कमी आने की संभावना नहीं दिख रही है. खगडिय़ा के सभी बांध-तटबंध सुरक्षित हैं. जरूरत पडऩे पर फ्लड फाइटिंग कार्य कराया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here