बिहार विधानसभा चुनाव में EVM चोरी की यह तस्वीर तेजी से हो रही है वायरल, जानिए सच्चाई

0
697

देश में पिछले कई चुनावों में यह देखा गया है कि हारने वाली राजनीतिक पार्टियों ने ईवीएम और चुनाव आयोग पर सवाल उठाते रही है. बिहार में संपन्न हुए बिहार विधानसभा चुनाव में भी इस तरह की एक तस्वीर सामने आई है. जिसमें राजद ने चुनाव अधिकारियों पर हेराफेरी का आरोप लगाया है. इन्हीं सभी चीजों को देखते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही है. जो तस्वीर वायरल हो रही है उसमें एक आदमी हाथों में बड़े बॉक्स पकड़े किसी सुनसान रास्ते से जाता दिखाई दे रहा है. उस तस्वीर को देखने से लग रहा है कि यह बॉक्स ईवीएम है. वायरल हो रहे तस्वीर में यह बताया जा रहा है कि ये आदमी ईवीएम चोरी करके कहीं ले जा रहा है. इस वायरल पोस्ट के जरीए नीतीश कुमार और चुनाव आयोग के ऊपर निशाना साधा जा रहा है.

जब इस वायरल तस्वीर की पड़ताल की गई तो पाया कि वायरल पोस्ट गलत है भ्रामक है. यह तस्वीर 2019 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के समय की है. तस्वीर में दिख रहा व्यक्ति एक चुनाव कर्मचारी है. तस्वीरें उस समय खींची गई है जब ये व्यक्ति चुनाव के दौरान दूर दराज के इलाके में स्थित पोलिंग स्टेशन जा रहा था.

जो तस्वीर वायरल हो रही है उसमें लोग लिख रहे हैं कि EVM की होगी जांच, नीतीश जाएंगे जेल? पूछता है युवा, पूछता है बिहार, EVM चोरी करके कहां लेजा रहा है. मोदी आयोग चोर है. इस भ्रामक पोस्ट को फेसबुक और ट्विटर पर धड़ल्ले से शेयर किया जा रहा है. ट्वीटर पर यह पोस्ट 12 नवंबर की रात को 12 बजे राष्ट्रीय जनता दल सिवान नाम के आईडी से पोस्ट किया गया है. जब इस तस्वीर को इंटरनेट पर सर्च किया गया तो हमें डिस्ट्रीक इनफॉमेशन ऑफिस रायगढ़ नाम के एक अकाउंट से ट्वीट मिला. जिन तस्वीरों को लेकर EVM चोरी का दावा किया जा रहा था ये दोनों तस्वीरें उसी ट्वीट में मौजूद थी. आपको बता दें कि ये ट्वीट 28 अक्टूबर 2019 को शाम को किया गया था. इस तस्वीर को चुनाव कर्मचारियों की तारीफ करते हुए ट्वीट की गई थी. इसके साथ ही सीईओ महाराष्ट्र, महा DGIPR, महा CYBer1 को यह तस्वीर टैग किया गया था. इस तस्वीर के साथ मराठी भाषा में लिखा गया था कि कर्मचारी कलकराई जैसे दूर दराज के इलाकों में स्थित पोलिंग स्टेशन पर पहुंच रहे हैं. कलकराई महाराष्ट्र के रायगड जिले में एक जगह है. आपको बता दें कि साल 2019 में 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी थी. और यह तस्वीर भी उसी दिन की है.

यहां यह साबित होता है कि वायरल पोस्ट भ्रामक है. ये तस्वीरें एक साल से ज्यादा पुरानी है और इसका बिहार विधानसभा चुनाव से कोई वास्ता नहीं है. इस तस्वीर की सच्चाई यह है कि यह तस्वीर बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की नहीं है यह महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 की है. इस तस्वीर में जो व्यक्ति दिख रहा है वह चुनाव कराने के लिए EVM मशीन के साथ पोलिंग बुथ पर जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here