पिछले दो बार से बिहार बोर्ड मैट्रिक में टॉपर देने वाला यह स्कूल इस बार हो गया फ्लॉप

0
395

बिहार बोर्ड मैट्रिक का परिणाम घोषित चुका है. छात्रों को बधाई दी जा रही है. पिछले दो सालों से टॉपर देने वाला स्कूल सिमुलतला आवासीय विद्यालय इस बार निराशा का सामना करना पड़ा है. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी बिहार बोर्ड मैट्रिक के परीक्षा में टॉप 10 छात्रों में 41 छात्रों का नाम आया है. जिसमें से मात्र तीन छात्र ही सिमुलतला के हैं. रोहतास के छात्र हिमांशु राज 481 अंको के साथ प्रदेश में टॉप किये हैं.

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी 10 वीं की परीक्षा में इस साल 80.59 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं. इस 14 लाख से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा दिया था. जिसमें से 7 लाख से ज्यादा लड़के और 7 लाख से ज्यादा लड़कियों थी. जबकि कुल 12 लाख से ज्यादा परीक्षा के परिणाम आए हैं. जिसमें से 5 लाख से ज्यादा लड़के और 6 लाख से ज्यादा लड़कियां उर्तीण हुई है.

बता दें कि वर्ष 2019 में बिहार के बांका जिले के एक गाँव के सावन राज ने कक्षा 10वीं की परीक्षा में 500 अंकों में से 486 अंकों के साथ टॉप किया था. मीडिया में आई खबरों के अनुसार एक किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले सावन ने कहा था कि वह एक IAS अधिकारी बनना चाहता है. वर्ष 2018 में प्रेरणा राज ने बीएसईबी कक्षा 10वीं की परीक्षा में 457 अंक या 91.4 प्रतिशत के साथ शीर्ष रैंक हासिल की थी. यह पिछले तीन वर्षों में टॉपर द्वारा प्राप्त किए गए सबसे कम अंकों में से एक था. 2019 में 1.89 लाख छात्रों ने प्रथम श्रेणी से पास हुए थे. 225 से अधिक अंक प्राप्त करने वालों को माना जाता है कि उन्होंने बिहार बोर्ड की कक्षा 10वीं की परीक्षा में प्रथम श्रेणी पास हुए हैं.

स्त्रोतः-https://www.india.com/hindi-news/career-hindi/bihar-board-10th-result-2020-simultala-awasiya-school-top-ten-also-outperformed-due-to-hat-trick-of-toppers-this-time-4040028/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here