Big Breaking : जगदानंद के शिष्य हो जाएंगे आज JDU में शामिल !

बिहार में चुनाव से ठीक पहले पाला बदलने का सिलसिला शुरु हो चुका है. कल जदयू ने नीतीश कुमार के बेहद करीबी रहे उद्योग मंत्री को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया तो आज कयास लगाए जा रहे हैं कि रोहतास जिला के एक राजद विधायक आज जदयू का दामन थामने वाले हैं. विधायक जी अब तक राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेहद करीबी माने जाते रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि उक्त विधायक नीतीश कुमार की पहल पर पार्टी छोड़ने की बात सामने आ रही है.

राजनीतिक हड़कंप

उक्त विधायक का राजद छोड़ कर जदयू में जाना राजद के लिए एक बड़े झटके की तरह होगा ही साथ ही साथ श्याम रजक का बदला भी हो सकता है. यह सच है कि सूबे में बन रहे सियासी समीकरणों के मद्देनजर कई विधायक इधर से उधर हो सकते हैं. इनमें भाजपा और जदयू के कई विधायक भी हो सकते हैं, जिनमें बेटिकट होने का खतरा भी मंडरा रहा है. कई ऐसी विधानसभा सीटें रहीं हैं जिनमें पिछले चुनाव में जदयू, भाजपा की परंपरागत सीटों पर जीत गई या भाजपा, जदयू की परंपरागत सीटों पर जीत गई. बेटिकट होने वालों की सूची में जदयू विधायकों की संख्या ज्यादा मानी जा रही है. रोहतास जिले की इस सीट के विधायक के जदयू में शामिल होने से भाजपा का दावा खारिज हो सकता है क्योंकि इस सीट को भाजपा की परंपरागत सीट मानी जाती है.

रोहतास जिले में बन सकता है नया समीकरण

काराकाट लोकसभा क्षेत्र के तीन हिस्से रोहतास जिले में आते हैं. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा इसी सीट से चुनाव लड़ते हैं. नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा की धार कुंद करने के लिए नया दांव चला है. उक्त विधायक अगर आज सचमुच जदयू की सदस्यता ग्रहण करते हैं तो सचमुच महागठबंधन के लिए इस जिले में चिंतित करने की वाली खबर हो सकती है. बहरहाल कुछ घंटों के इंतजार के बाद यह साफ हो जाएगा कि राजद विधायक जदयू में शामिल होते हैं या फिर ये महज अफवाह है, हालांकि विधायक के करीबी सूत्रों ने उनके जदयू में जाने की पुष्टि की है. वैसे बिहार के जाने माने पत्रकार कन्हैया भेलारी ने भी अपने फेसबुक पोस्ट पर इस बात की चर्चा की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here