ट्रेन में आधे किराये में करना है लंबा सफर तो इस तरीके से करें टिकट बुक

0
8726

रेलवे ने अपने यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कई तरह के बदलाव करता रहा है. इसी कड़ी में हमने देखा है कि कोरोना काल के बाद से रेलवे में कई तरह के बदलाव देखने को मिले हैं. या हम यूं कहें कि पूराने वाले बदलाव को एक बार फिर से लागू कर दिया गया है. कोरोना काल के दौरान रेल यात्रा में कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए थे. धीरे-धीरे अब उन सभी प्रतिबंधों को कम किया जा रहा है कि साथ ही ट्रेनें एक बार फिर से पटरी पर आनी शुरू हो गई है. रेलवे ने हालही में अपने एक और नियम में बदलाव किया है. मान लिया जाए कि आपको धनबाद से बक्सर तक की यात्रा करनी है ऐसे में कोई भी डायरेक्ट ट्रेन नहीं है. आपको पहले धनवाद से पटना आना होगा उसके बाद आप पटना से बक्सर के लिए ट्रेन लेंगे तब आप आगे की यात्रा कर सकते हैं. ऐसे में आपको दोगुना किराया देना पड़ सकता है. लेकिन अब रेलवे ने पुराने नियम को शुरू कर दिया है जिसके तहत अब कहा जा रहा है की आप सीधा धनवाद से बक्सर के लिए टिकट लिजिए आपको अब दूसरी बार टिकट लेने की जरुरत नहीं है.

इन सब के बीच में रेलवे ने यह सुविधा सिर्फ स्लीपर क्लास के लिए जारी किया है. जिससे यात्रा करने वाले लाखों को लोगों को इसका लाभ मिलने वाला है. यात्रियों को अब पहले की तरह किम किराए में लंबा सफर करने का मौका मिलेगा. इस दौरान यात्रियों को ब्रेक जर्नी की भी इजाजत मिलने वाली है. आपको बता दें कि वैसी ट्रेनें जिनके गंतव्य स्टेशन के आगे तक यात्री को जाना है. पहले यात्रियों को दो बार टिकट बुक करना होता था लेकिन अब रेलवे ने इसमें बदलाव किया है. बता दें कि रेलवे ने क्लस्टर टिकट योजना को भी बहाल किया गया है. आपको बता दें कि पहले यह सुविधा वातानुकूलित श्रेणी के यात्रियों को मिलता था लेकिन GST के दायरे में आने के बाद से एसी क्लास में यह खत्म होने लगा है. ऐसे में अब स्लीपर क्लास के यात्रियों को यह सुविधा मिलने वाली है.

इस पूरे नियम को हम एक उदाहरण के माध्यम से समझने की कोशिश करते हैं. धनबाद से बक्सर के बीच में कोई भी सीधी ट्रेन नहीं है. ऐसे में अब यात्रियों को क्लस्टर टिकट जारी किया गया जाने लगा है. अगर आपको धनवाद से पटना
आना है तो आप गंगा दामादोर एक्सप्रेस में टिकट लेंगे और आप उसी टिकट में पटना से बक्सर के लिए भी टिकट लेंगे. इसी तरह से बेंगलुरु जाने वाले यात्री को भी धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस से चेन्नई या फिर जोलारेपट्टई तक यात्रा कर वहां से बेंगुलुरू की दूसरी ट्रेन पर सवार होकर यात्रा कर सकते हैं. आपको बता दें कि रेलवे की यह सुविधा तीन साल पहले बंद कर दिया गया था. लेकिन अब एक बार फिर से इसको बहाल कर दिया गया है.

मीडिया में चल रही खबरों की माने तो कलस्टर टिकट योजना की शुरुआत होने के बाद से समूह यात्रा या फिर तीर्थ यात्रियों को काफी सुविधा मिलने वाला है. रेलवे कि इस सुविधा के बाद से उन यात्रियों को काफी सुविधा मिलने वाला है जिन्हें ब्रेक जर्नी करना पड़ता था. अब आप एक टिकट से ही दोनों तरह की यात्रा कर सकते हैं आपको यात्रा ब्रेक करने से पहले और बाद की दोनों ट्रेनों का रिजर्वेशन एक साथ ही मिलने वाला है. तीन साल पहले यह सुविधा बंद कर दी गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here