Big Breaking : दो दर्जन विधायकों ने जारी किया संयुक्त बयान , खतरे में एक और राज्य में कांग्रेस सरकार !

मध्यप्रदेश के बाद अब कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार गिर सकती है. ये खबर कई बार सोशल मीडिया से लेकर मेनस्ट्रीम मीडिया में तैर चुकी है. एक बार फिर से राजस्थान सरकार के भविष्य को लेकर कयासों का बाजार गर्म हो चुका है. इसके पीछे की वजह भी खास है.

Indian national congress flag symbol waving, india | Premium Photo

कांग्रेस के दो दर्जन विधायकों ने शुक्रवार को एक साथ संयुक्त बयान जारी कर यह आरोप लगाया है कि जल्द ही राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी राज्य की अशोक गहलोत सरकार को गिराने की साजिश कर रही है.

 

भाजपा कर रही अलोकतांत्रिक एवं भ्रष्ट आचरण

Fabricated stories being created against Modi, Shah: Muktar Abbas ...

राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी एवं उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी ने संयुक्त बयान जारी कर कहा कि भाजपा हमारे विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिशें कर रही है और दूसरे तरह के भ्रष्ट हथकंडों को अपना कर सरकार गिराने की साजिश रची जा रही है. कांग्रेस विधायकों ने भाजपा के इस आचरण को भ्रष्ट एवं अलोकतांत्रिक करार दिया है.

इसके साथ ही कांग्रेस विधायकों ने कहा है कि हम सभी विधायक भाजपा के इस तरह के प्रयासों को सफल नहीं होने देंगे. कांग्रेस विधायकों ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा इस साजिश में भाजपा का शीर्ष नेतृत्व शामिल है.

कुछ दिनों पूर्व हुए राज्यसभा चुनाव में भी भाजपा पर कांग्रेस और निर्दलीय विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगा था. खुद सीएम अशोक गहलोत ने करोड़ों रुपये के नकदी लेनदेन की बात कही थी.

राजस्थान का नंबर गेम

Ashok Gehlot's politics, pilots Congress victory

वर्ष 2018 में हुए राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत हुई थी. 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को कुल 107 विधायकों का समर्थन हासिल है जबकि भाजपा के पास फिलहाल 72 विधायकों का समर्थन है. राज्य में 13 निर्दल विधायक भी जीते हैं जिनमें से 12 कांग्रेस के साथ है. यहां बहुमत के लिए 101 विधायकों की जरुरत पड़ती है. अशोक गहलोत राजस्थान के सीएम हैं तो वहीं सचिन पायलट डिप्टी सीएम.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here