कभी पिता ने क्रिकेट खेलने से किया था मना, अब है अंडर 19 भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

0
339

अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का ऐलान हो गया है. इस बार अंडर 19 वर्ल्ड साउथ अफ्रीका में खेला जाएगा. इस बार भारतीय टीम का कमान यूपी के बल्लेबाज प्रियम गर्ग को सौंपी गई है. प्रियम गर्ग भारतीय टीम में एक बल्लेबाज की हैसियत से खेलते हैं. 14 सदस्यीय इस टीम में बल्लेबाजों और गेंदबाजों को मौका दिया गया है. इन खिलाड़ियों से उम्मीद की जाती है कि आने वाले दिनों में अपने खेल प्रदर्शन से भारतीय टीम के लिए खेले.

कहते हैं जब कुछ कर गुजरने का जज्बा अपने मन में ठान लिया जाए तो इंसान कुछ भी कर सकता है कुछ ऐसा ही कर दिखाया है अंडर 19 भारतीय टीम के कप्तान प्रियम गर्ग ने. गर्ग यूपी के मेरठ के रहने वाले है और इन्हें भारतीय टीम में एक उभरते हुए खिलाड़ी के रूप में देखा जा रहा है.


प्रियम गर्ग जब 7 साल की उम्र के थे तभी से इन्हें क्रिकेट के प्रति दिलचस्पी थी. इन्होंने टीवी स्किन पर सचिन तेंदुलकर को बल्लेबाजी करते हुए देखा है. तभी से ठान लिया था कि क्रिकेट खेलना है और देश के लिए खेलना है. लेकिन मजबुत इरादों के बीच में गरीबी आ गई. पिता ने बेटे को क्रिकेट खेलने से मना कर दिया. लेकिन मजबुत इरादों वाले प्रियम ने गली क्रिकेट खेलना नहीं छोड़ा. समय बितता गया परिस्थितियां बदली इसके बाद उनके मामा ने प्रियम को मेरठ में विक्टोरिया स्टेडियम में क्रिकेट की कोचिंग दिलाई उसके बाद इस बल्लेबाज ने कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा.

प्रितम ने अपनी अटुट इच्छा शक्ति के आगे सभी वाधाओं को पार कर लिया. प्रियम का घर विक्टोरिया स्टेडियम से 22 किलोमिटर दूर था वह रोज बस से स्टेडियम जाता था. लोग बताते है कि यह कभी बस में लटक कर जाता था तो कभी खड़े खड़े ही चला जाता था. आज इसकी मेहनत रंग लाई और महज 14 साल की उम्र में यूपी अंडर 14, अंडर 16 में खेलने का मौका मिल गया.

अब बात उसके शानदार प्रदर्शन के बारे में प्रियम ने अंडर 14 और अंडर 16 में शानदार प्रदर्शन किया. इसके बाद 2018 में प्रियम का चयन अंडर 19 भारतीय टीम में हो गया. आपको बता दें कि प्रियम गर्ग ने अंडर 14, अंडर 16 और रणजी ट्रॉफी में दो-दो दोहरे शतक लगाने का कारनामा किया है. प्रियम गर्ग ने 11 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं और उन्होंने 67.83 के औसत से 814 रन बनाए हैं, जिसमें दो दोहरे शतक भी शामिल हैं.

अंडर 19 टीम में ध्रुव जुरेल और यशस्वी जायसवाल को मौका दिया गया है. टीम में तिलक वर्मा, दिव्यांश सक्सेना, शाश्वत रावत, दिव्यांश जोशी, शुभांग हेगड़े, रवि बिश्नोई, आकाश सिंह, कार्तिक त्यागी, अथर्व अकोलेकर, कुमार कुशाग्र, सुशांत मिश्रा और विद्याधर पाटिल को मौका मिला है.

बता दें टीम इंडिया ने रिकॉर्ड चार बार अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता है. 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत ने अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता था और इस बार टीम इंडिया साउथ अफ्रीका में बतौर डिफेंडिंग चैंपियन मैदान में उतरने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here