केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि देश में कब तक आ जाएगी कोरोना की वैक्सीन

0
232

कोरोना वायरस का कहर भारत समेत विश्व में दिन प्रतिदिन बढता ही जा रहा है. विश्व के 100 देश कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने की बात कह रहे हैं. लेकिन अब तक में 8 ऐसे देश हैं को कोरोना वैक्सीन बनाने की दूसरे चरण में हैं. रूस सबसे पहले कोरोना की वैक्सीन बनाने का दावा कर रहे हैं. वहीं भारत, अमेरिका ब्रिटेन समेत की देश कोरोना वैक्सीन के क्लिनकल ट्रायल के चरण में हैं. इन सब के बीच में देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो भारत को नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम वाला टीका इस साल के अंतक तक मिल जाएगा.

उन्होंने कहा है कि कोरोना के टीके के विभिन्न स्तर है. जिनमें से दो टीके स्वदेश निर्मिक हैं. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने हाल ही में बताया है. कि कोविड-19 के दो स्वदेशी टीकों के माननीय क्लीनिकल परीक्षण का पहला चरण पूरी हो गया है. उन्होंने कहा है कि परीक्षण दूसरे चरण में पहुंच चुका है. उन्होंने यह भी कहा है कि इनमें से एक टीका भारत बायोटेक ने आईसीएमआर के साथ मिलकर विकसित किया है. और वहीं दूसरा टीका जदाइडस कैडिला लिमिटेड ने तैयार किया है.

देश की प्रतिष्ठित संस्था सीरम इंसटीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के संभावित टीके दूसरे चरण में हैं वहीं तीसरे चतरण का मानवीय क्लीनिकल परीक्षण करने की अनुमति दे दी गई है. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को ट्वीट किया है. जिसमें उन्होने उम्मीद जताई है कि अगर सबकुछ ठीक रहा तो भारत इस साल के आखिर तक कोरोना वायरस का टीका हासिल कर लेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here