उपेन्द्र कुशवाहा ने संजय जायसवाल को दे दी नसीहत, राजनीतिक बयानबाजी अभी नहीं !

0
373

बिहार में सियासी उफान लगा ही रहता है. सियासत में कब किस तरफ से उबाल और पलटवार जारी होगा, इसे लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता है . यह बात तो साफ है कि बिहार में भाजपा की नैया नीतीश के सामने भारी पड़ गई बावजूद भाजपा ने नीतीश को ही अपना चेहरा चुना और सीएम की कुर्सी दे दी . लेकिन इसके बाद भाजपा और जदयू के बीच संबंधों में मतभेद दिखते रहे हैं.

कभी अपराध के मुद्दे पर तो कभी शराबबंदी को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधा है. एक बार फिर से नाईट कर्फ्यू को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने नसीहत दे दी यूँ तो राजद नीतीश पर निशाना साधते नजर आते हैं तो सुशील मोदी का करार जवाब नीतीश के फेवर से तेजस्वी को पलटवार मिलता है ठीक कुछ इसी तरह एक बार फिर से भाजपा के संजय जायसवाल को उपेन्द्र कुशवाहा ने जवाब दे दिया है.

लोकसभा चुनाव में उपेद्र कुशवाहा ने महागठबंधन में अपनी राह तलाशी थी लेकिन विधानसभा चुनाव के बाद कुशवाहा ने अपनी राजनीतिक रणनीति में बदलाव करते हुए नीतीश का दामन थामकर जदयू में अपनी पार्टी का विलय कर दिया.

नीतीश पर निशाना साधने वाले और बिहार के मुलभुत आवश्यकताओं को लेकर तेज बयान देने वाले कुशवाहा ने बिहार के गठबंधन सरकार को नसीहत दे डाली है.

कुशवाहा ने संजय जयसवाल के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि यह राजनीतिक बयानबाजी का दौर नहीं है. नाईट कर्फ्यू पर उठाये गए सवालों से जुडी खबर को अपना बयान देकर ताजा कर दिया है . कुशवाहा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, जायसवाल जी, अभी राजनीतिक बयानबाजी का समय नहीं है.

वहीँ अभी हाल ही में कुशवाहा ने तेजस्वी को भी नसीहत दे डाली थी . राजनीतिक जानकारों के मुताबिक कुशवाहा का जदयू में शामिल होना नीतीश कुमार के राजनीतिक हित में रहा जो अब साफ दिखने लगा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here