खुशखबरी : UPSC के इंटरव्यू में फेल होने वाले छात्रों को भी सरकार देगी सरकारी नौकरी…

0
614

UPSC की परीक्षा सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक मानी जाती है. छात्र-छात्राएं इस परीक्षा की तैयारी के लिए दिन-रात मेहनत करते हैं, लेकिन बहुत सारे अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो प्री और मेंन्स तो पास कर लेते हैं लेकिन इंटरव्यू पास नहीं कर पाते हैं जिसके कारण वो IAS या IPS बनने से वंचित हो जाते हैं. आंकड़ों के अनुसार प्री और मेंन्स पास करने वालों में से करीब दो तिहाई इंटरव्यू पास नहीं कर पाते हैं. अब UPSC ऐसे ही उम्मीदवारों को ध्यान में रखते हुए नया नियम लाने की योजना बना रहा है.

UPSC ने केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों को सिविल सेवा परीक्षा के उन उम्म्मिद्वारों को भर्ती करने की सिफारिश की है जो इंटरव्यू राउंड में जाने के बाद सफल नहीं हो पाते हैं. UPSC का तर्क यह है कि 1 साल में करीब 11 लाख उम्मीदवार UPSC की परीक्षा में हिस्सा लेते हैं. इसके बाद प्री, मेंस और इंटरव्यू की प्रक्रिया होने के बाद 600 उम्मीदवारों को चुना जाता है. इसमें बड़ी संख्या में ऐसे उम्मीदवार भी हैं जो अंतिम चरण तक तो पहुँच जाते हैं लेकिन रैंक लाने में असफल हो जाते हैं. इसलिए सरकार और अन्य संगठन उन उम्मीदवारों की भर्ती पर विचार कर सकते हैं क्योंकि वे पहले ही मुश्किल स्क्रीनिंग प्रक्रिया से गुजर चुके हैं, और केवल अंतिम चरण में असफल हुए हैं.

UPSC का मानना है कि यदि ऐसा होता है तो युवाओं में परीक्षा का तनाव कम होगा और उनके मन में नौकरी को लेकर उम्मीद बनी रहेगी. अरविंद सक्सेना ने कहा कि UPSC परीक्षा की प्रक्रिया को उम्मीदवार फ्रेंडली बनाने के लिए कई कदम उठाये जा रहें हैं. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जो उम्मीदवार अपना परीक्षा फॉर्म वापस लेना चाहेंगे उनके पास आप्शन रहेगा आवेदन वापस लेने का. आयोग धीरे-धीरे कागज़ और पेंसिल आधारित परीक्षाओं की बजाय कंप्यूटर आधारित परीक्षा लेने की कोशिश कर रहा है.

  • 268
  •  
  •  
  •  
  •  
    268
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here