विकास दुबे ने कबूलनामे में खोले थे कई राज, उसकी पत्नी और बेटा गिरफ्तार

0
609

8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला गैगस्टर विकास दूबे शुक्रवार की सुबह पुलिस एंकाउंटर में मारा गया है. अब पुलिस ने उसके बेटे और उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार विका की पत्नी ऋचा और उसके बेटे को पुलिस ने लखनऊ के कृष्णानगर इलाके से गिरफ्तार किया है. बताया यह भी जा रहा है कि पुलिस ने विकास दुबे के नौकर को भी गिरफ्तार किया है. आपको बता दें कि विकास दुबे को गुरुवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर में गिरफ्तार किया गया था.

विकास दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंपने के समय विकास दुबे को कुबूलनामा सामने आया है. सुत्रों की माने तो पुलिस के सामने विकास दुबे ने कानपुर घटना को लेकर कई खुलासे किए हैं. पुलिस सुत्रों की माने तो अपने कबूलनामें में ने बताया कि कानपुर की घटना के बाद उसके घधऱ के ठीक बगल में कुए के पास 5 पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखा गा था. जिससे उनमें आग लगाकर सबूत नष्ट कर दिए जाए. आग लगाने के लिए घऱ में गैलनों में तेल रखा गया था. एक 50 लीटर गैलन में तेल से जलाने का इरादा था. लेकिन लाशें इकट्टठा करने के लिए से मौका नहीं मिला और वह फरार हो गया.

अपने कबूलनामें में बोलते हुए विकास दुबे ने यह भी कहा है कि देवेंद्र मिश्र से नहीं बनती थी. कई बार वो मुझसे देख लेने की धमकी दे चुके हैं. पहले भी बहस हो चुकी थी. विनय तिवारी ने भी बताया कि सीओ तुम्हारे खिलाफ है लिहाजा मुझे सीओ पर गुस्सा था सीओ को सामने के मकान में मारा गया था मैंने नहीं मारा सीओ को लेकिन मेरे साथ के आदमियों ने दूसरी तरफ से हाहाते से कूदकर मामा के आंगन में मारा था. पैर पर भी वार किया था क्योंकि मुझे पता चला था कि वो बोलता है कि वकास का एक पैर गड़बड़ है. दूसरा भी सही कर दूंगा सीओ का गला नहीं काटा था. गोली पास से सिर में मारी गयी थी इसलिए आधा चेहरा फट गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here