वीकेंड मस्ती 03 : ठण्ड के इस मौसम में लीजिये ‘राजगीर’ के ‘गर्म कुंड’ का मजा ,जानिये इसकी विशेषता

0
898

अगर आप दिसंबर माह के गुलाबी ठण्ड में वीकेंड मस्ती के के लिए अपने परिवार या दोस्तों के साथ कई घूमने जाना चाहते है तो राजगीर आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। नालंदा से 15 किलोमीटर दूर स्थित राजगीर न सिर्फ ऐतिहासिक महत्वों एवं मंदिर और मठों से भरा,बल्कि एक खूबसूरत हेल्थ रेसॉर्ट के रूप में भी लोकप्रिय है। है। इन सबमे सबसे ख़ास है राजगीर का गर्म पानी का कुंड

क्या है राजगीर का धार्मिक महत्व

राजगीर एक प्रसिद्ध धार्मिक तीर्थस्थल है। कथाओं के अनुसार भगवान ब्रह्मा के मानस पुत्र राजा बसु ने राजगीर के ब्रह्मकुंड परिसर में एक यज्ञ का आयोजन कराया था। इसी दौरान आए सभी देवी-देवताओं को एक ही कुंड में स्नान करने में परेशानी होने लगी। तभी ब्रह्मा ने यहां 22 कुंड और 52 जलधाराओं का निर्माण कराया था। यहां पर आप 22 कुंडों में स्नान कर सकते हैं।
इन कुंड में ब्रह्मकुंड सबसे महत्वपूर्ण हैं। इसका तापमान 45 डिग्री सेल्सियस होता है। इसे पाताल गंगा भी कहा जाता है। सभी झरनों में स्नान करने के बाद इस कुंड में भी लोग स्नान करते हैं। 22 कुंडों में ब्रह्मकुंड के अलावा मार्कंडेय कुंड, व्यास कुंड, अनंत ऋषि कुंड, गंगा-यमुना कुंड, साक्षी धारा कुंड, सूर्य कुंड, गौरी कुंड, चंद्रमा कुंड, राम-लक्ष्मण कुंड। राम-लक्ष्मण कुंड में एक धारा से ठंडा और दूसरे से गर्म पानी निकलता है।

राजगीर गर्म कुंड में स्नान के वैज्ञानिक फायदे
वैभारगिरी पर्वत की सीढिय़ों पर मंदिरों के बीच गर्म जल के कई झरने हैं, जहां सप्तकर्णी गुफाओं से जल आता है। ऐसी संभावना जताई जाती है कि इसी पर्वत पर स्थित भेलवाडोव तालाब है, जिससे ही जल पर्वत से होते हुए यहां पहुंचता है। इस पर्वत में कई तरह के केमिकल्स जैसे सोडियम, गंधक, सल्फर हैं। इसकी वजह से जल गर्म और रोग को मिटाने वाला होता है।

राजगीर पहुंचने के लिए है कई बेहतर सुविधाएं
बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम पटना स्थित अपने कार्यालय से नालंदा एवं राजगीर के लिए वातानुकूलित टूरीस्ट बस एवं टैक्सी सेवा भी उपलब्ध करवाता है। संपर्क:टूरीस्ट भवन, बीरचंद पटेल पथ, पटना 800001. दूरभाष: 0612-225411, फैक्स: 0612-236218.
इसके अलावा आप सड़क मार्ग, और रेल मार्ग से भी सीधे जा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here