जब लालू प्रसाद को ” भूत ” मारने के लिए ले गए थें श्मशान घाट

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को बचपन से ही लोकगीत बेहद पसंद हुआ करता था. ऐसे में ही एक बार लालू अपने गांव पर पूर्णिमा की रात को गांव के बरम बाबा के डेरे के पास पुआल में बैठकर लोकगीत का आनंद ले रहे थें. गीत सुनते सुनते लालू प्रसाद को अचानक से नींद आ गई. लालू को पता ही नहीं चला कि कब गीत संगीत का कार्यक्रम समाप्त हो गया और सब लोग वहां से चल दिए.

बिहार पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ...

श्मशान की ओर जाने लगें

इसके बाद आधी रात को दो लड़के आएं और लालू को अपने साथ चलने के लिए उकसाने लगें. लालू आधी नींद और आधा जागने की स्थिति में होकर उनके पीछे पीछे चलने लगें. लालू गांव के बाहर स्थित श्मशान घाट की तरफ बढ़ने लगें. श्मशान घाट आने से ठीक पहले लालू को पेशाब लग गया. वह वहीं खेत में निपटाने लगें.

Holi 2018 KI Raat KI Tantra Sadhna - Holi 2018 - होली की ...

इसी बीच गांव के ही एक बुजुर्ग तपेसर बाबार वहां से खैनी मलते हुए गुजर रहे थें. उन्हें कुछ आवाज सुनाई दी तो तपेसर बाबा ने जोर से पूछा, कौन है रे, इधर से आवाज आई हम हैं ललुआ. तपेसर बाबा ने कहा कि कहां जा रहे हो, उठो और सीधे घर जाओ. तपेसर बाबा के यह कहते ही दोनों लड़के वहां से भाग उठें.

सुबह पता चला कि भूत थें !

अगले दिन जब भोर हुई तो लालू उन लड़कों के पास गए कि मुझे कहां लेकर जा रहे थे कल रात तो लड़कों ने कहा कि हम लोग ! हम तो रात में अपने घरों में सो रहे थें. उनके घर वालों ने कहा कि हां ये लोग तो रात में घर में ही थें. इसके बाद लालू चकरा गए. वो भाग कर तपेसर बाबा के पास पहुंचें तो उन्होंने भी यही कहा कि मैं आधी रात को श्मशान क्यों जाउंगा ? मैं अपने घर पर था. अब लालू का दिमाग सन्न हो चुका था.

मां को बताई सारी बातें

बालक लालू ने ये सारी बातें अपनी मां को बताई तो उन्होंने बताया कि जो लोग तुम्हारे दोस्त का रुप धरकर आए थें, वो तुम्हारे दोस्त नहीं बल्कि भूत थें और जो तपेसर बाबा बनकर तुम्हें बचाने आए थें, वो बरम बाबा थें. अगर बरम बाबा नहीं होते तो भूत तुम्हें श्मशान घाट ले जाकर मार सकते थें. इसके बाद से लालू प्रसाद अपने गांव के बरम बाबा के भक्त बन गए. लालू बचपन से लेकर अब तक जब भी अपने गांव जाते हैं तो गाड़ी रोक कर बरम बाबा के आगे शीश नवाना नहीं भूलते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here