बिहार के DGP ने आरोप लगाते हुए कहा मुंबई पुलिस इस एंगल से क्यों नहीं कर रही है जांच

0
226

सुशांत सिंह राजपूत मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस आमने सामने हैं. मुंबई पुलिस पर बिहार पुलिस को सहयोग नहीं करने का आरोप लगता रहा है. आपको बता दें कि बिहार से सुशांत मामले में जांच के लिए गए चार अधिकारियों को जांच के लिए गाड़ी मुहैया नहीं कराई गई. वे ऑटो से आते जाते रहे. उसके बाद पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को क्वारंटाइन किए जाने के बाद से मुंबई पुलिस पर चारो ओर से हमला होने लगा. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने मुंबई पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं.

इधर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा है कि पिछले 4 पिछले 4 वर्षों में सुशांत सिंह राजपूत के बैंक खाते में लगभग 50 करोड़ रुपये जमा किए गए, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से सारे पैसे निकाल लिए गए. एक साल में उनके खाते में 17 करोड़ रुपये जमा किए गए, जिसमें से 15 करोड़ रुपये निकाल लिए गए.

मीडिया से बात करते हुए गुप्तेश्वर पांडे ने सुशांत के एकाउंट में इतने पैसा आना भी एकाएक चला जाना. इस पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि क्या यह एक अहम एंगल नहीं है जिसकी जांच की जानी चाहिए हम शांति से बैठने नहीं जा रहे हैं. इस दौरान वे काफी भावुक और दुखी भी हो गए. उन्होंने इसी दौरान यह भी पुछा कि मुंबई पुलिस इस तरह के सुरागों को क्यों दबा रही है. पटना के सिटी एसपी को 11 बजे रात में क्यों क्वारंटीन किया गया.

गुप्तेश्वर पांडेय ने मीडिया से बात करते हुए यह भी कहा कि इस केस से जुड़े सबूत या पोस्टमॉर्टम और फॉरेंसिक रिपोर्ट्स जैसी चीजें हमें देने की जगह मुंबई पुलिस ने हमारे IPS अधिकारी को लगभग हाउस अरेस्ट कर लिया. मैंने किसी और राज्य की पुलिस द्वारा ऐसा असहयोग करते हुए नहीं देखा है. यदि मुंबई पुलिस केस की जांच करने में ईमानदार होती तो वे जांच के सारे डिटेल्स हमसे शेयर करती. उसके बाद हम बताते कि मुंबई पुलिस बहुत बढ़िया तरीके से काम कर रही है लेकिन मुंबई पुलिस हमें बताने के जगह पर वह चीजों को छूपा रही है. वह हमें यह भी नहीं बता रही है कि हम किस तरह से इस केस को देख रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here