लालू यादव से मिलने रांची पहूंची महिला विधायक, 14 दिनों के लिए हुई क्वारंटीन, JDU ने बोला हमला

0
258

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सरगमर्मीयां तेज हो गई है. किसी भी समय चुनाव की घोषणा हो सकती है ऐसे में सभी राजनेता अपनी अपनी पार्टी के आलाकमान के पास टिकट के लिए पहुंच रहे हैं. अपना बायोडाटा जमा कर रहे हैं. राजद सुप्रीमो लालू यादव चारा घोटाला मामले में रांची के जेल में बंद है. बीमारी के कारण उन्हें रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ऐसे में बिहार के कई राजनेता लालू यादव से मुलाकात के लिए रांची पहुंच रहे हैं. रांची में लागू कोरोना के लालू लॉकडाउन के गाइडलाइन के अनुसार बिहार की महिला विधायक और उनके बॉडीगार्ड-सहयोगी को आइसोलेशन वार्ड में भेजा गया है जिसके बाद से बिहार में राजनीति तेज हो गई है.

महिला विधायक को क्वारंटाइन करने के बाद बिहार सरकार के मंत्री और जदयू के सीनियर लीडर नीरज कुमार ने लालू यादव पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि जब लालू के परिजन लालू यादव से मिलने झारखंड जाते हैं तो क्वारंटाइन नहीं किए जाते हैं. लेकिन जब एक दलित विधायिका उनसे मिलने पहुंचती है तो उसे क्वारंटाइन किया जाता है. नीरज ने आगे बोलते हुए कहा कि इस मामले पर तेजस्वी यादव को जुबान खोलना चाहिए और बताना चाहिए कि कौन सही है.

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि क्या सोने की चम्मच लेकर जन्म लेने वाले लोगों को लालू से मिलने के दौरान क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा लेकिन जब महिला विधायक दलित है तो उन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है.

इधर बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने राजद पर हमला बोलते हुए कहा है कि जब लालू प्रसाद से मिलने अखिलेश सिंह जाते हैं तो कोई कार्रवाई नहीं होती है. लेकिन दलित महिला के साथ वहां अत्याचार हो रहा है. निखिल ने झारखंड सरकार हमला बोलते हुए कहा कि यह पूरा प्रकरण हेमंत सरकार का दोहरा चरित्र दर्शाता है लेकिन बीजेपी इसे कतई बर्दास्त नहीं करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here