दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में हो रहा तेजस्वी को सीएम बनाने की रणनीति पर काम !

राजधानी दिल्ली के लुटियंस जोन का 24 अकबर रोड. अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी का मुख्यालय. जहां बैठते हैं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत तमाम कांग्रेस के पदाधिकारी. इस समय वहां बिहार विधानसभा चुनावां की गूंज है. कांग्रेस के बिहार प्रभारी महासचिव शक्ति सिंह गोहिल जैसे नेता लगातार राज्य का फीडबैक कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दे रहे हैं. लगातार रणनीति पर चर्चा हो रही है कि कैसे बिहार में महागठबंधन 122 का आंकड़ा पार कर जाए.

Flutter in political circle: Rahul, Tejashwi meet over luncheon

सोनिया का आर्शीवाद तेजस्वी के साथ

तेजस्वी को सीएम उम्मीदवार घोषित करने पर चाहे जितना भी किन्तु परंतु महागठबंधन के घटक कर लें लेकिन यह सच है कि सोनिया गांधी का आर्शीवाद लालू परिवार के ही किसी सदस्य को मिलेगा. कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व तेजस्वी के लिए अपने पार्टी के वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्रियों से राय ले रहा है कि किस प्रकार से बिहार में चुनाव प्रचार को मजबूती दी जाए और गठबंधन किस प्रकार से हो जिससे की हर हाल में जीत सुनिश्चित हो सके. वैसे कांग्रेस नेतृत्व तेजस्वी की सक्रियता देखकर संतुष्ट है. जिस प्रकार से कांग्रेस ने हाथ आगे बढ़ा कर झारखंड में हेमंत सोरेन की ताजपोशी कराई, वैसे ही उम्मीद जताई जा सकती है कि कांग्रेस तेजस्वी यादव के लिए दो कदम आगे बढ़ सकती है.

लालूंचे चिरंजीव बसणार सोनिया ...

गठबंधन तो तय है !

बिहार में राजद और कांग्रेस के बीच सीटों को लेकर कोई रार नहीं है बल्कि माथापच्ची है. इन दोनों के बीच गठबंधन होना तय है चाहे वो रोकर हो या हंस कर हो. वैसे राजद के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि कांग्रेस से गठबंधन को लेकर कोई परेशानी नहीं है. दुविधा का माहौल बिहार कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेता बनाते हैं जिन्हें लालू से ज्यादा नीतीश कुमार से मोह है जबकि सोनिया गांधी का झुकाव और लगाव राजद के साथ ही दिखाई देता है. बिहार में कांग्रेस की मांग 80 सीटों की है लेकिन 55 से 60 के बीच सीटों के साथ समझौता हो जाना तय है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here