skip to content

गुजरात टाइटन्स के डेब्यू सीजन में ही चैंपियन बनने की कहानी

Bihari News

आईपीएल की एक ऐसी टीम जिसने इंडियन प्रीमियर लीग में पदार्पण किया और देखते ही देखते विजेता बन गई। टीम ने बड़े खिलाड़ी नहीं होने के बाउजुद भी टीम ने साल 2022 के पूरे सीजन में जो कर दिखाया वह आईपीएल इतिहास में अभी तक कोई भी टीम नही कर पाई है। शायद ही दुनिया में भी कोई ऐसी लीग टीम नहीं होगी जिसने लीग क्रिकेट में डेब्यू किया हो और चैंपियन बन गई हो लेकिन ऐसा कर दिखाया हार्दिक पंड्या की कप्तानी वाली टीम गुजरात टायटंस ने। वाकई क्या शानदार डेब्यू रहा है इस टीम का।

दोस्तों आईपीएल में पिछले 14 सालों से सिर्फ 8 टीमें ही खेलती नजर आ रही थी। और साथ ही एक मांग यह भी की जा रही थी कि आईपीएल में दस टीमें की जाए। मतलब दो नई टीमों को शामिल करने की कवायद । बीसीसीआई ने इस पर मंथन किया और उन्होंने साफ कर दिया कि आईपीएल का 15 वां सीजन दस टीमों का होगा। और इसकी प्रक्रिया उन्होंने बीते एक साल पहले यानी साल 2021 से ही शुरू कर दी थी। 22 कंपनियों ने इंट्रेस्ट दिखाया। जिसमें नई टीम के लिए हाई बेस प्राइस के लिए 6 सीरियस कंपनिया सामने आई। फिर बीसीसीआई ने तीन कंपनियों को बिल्ड करने का मौका दिया। किसी एक फ्रेंचाइज के लिए। सीवीसी कैपिटल पार्टनर जो की एक ब्रिटिश फर्म है उन्होंने अहमदाबाद के राइट्स को ऑपरेट करने का अधिकार 5625 करोड़ रुपए में जीत लिया। इस प्रक्रिया के लिए दुबई में ऑक्शन हुए अक्टूबर 2021 में। दोस्तों आईपीएल शुरू होने और मेगा ऑक्शन से पहले सीवीसी कैपिटल ने अपना कप्तान हार्दिक पंड्या को बना लिया था। फ्रेंचाइज के लिए यह एक बहुत ही टैक्टिकल डिसीजन था। क्योंकि हार्दिक पंड्या ने इससे पहले कभी किसी भी टीम को लीड नहीं किया था। और जब वो साल 2021 में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेले थे तो उनका प्रदर्शन काफी कमजोर था। जिसकी वजह से मुंबई इंडियंस ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। एक वजह यह भी थी कि हार्दिक पिछले एक साल से अपनी बैक इंजरी की वजह से इंटरनेशनल इसे दूर रहे थे।

खैर बीसीसीआई के नियमो के अनुसार सभी टीमों को तीन खिलाड़ी रिटेन करने थे। जिसमें हार्दिक ने युवा खिलाड़ी शुभमन गिल और दुनिया का बेहतरीन स्पिनर रशीद खान को शामिल किया । जब नीलामी हुई तो इस टीम में ज्यादा बड़े खिलाड़ी नजर नहीं आए। और नीलामी के दौरान लोकि फर्गुसन, मैथ्यू वेड,राहुल तेवतिया,अलजारी जोसेफ और मोहम्मद शमी जैसे नाम टीम में शामिल किए गए।

अभी भी बहुत कम लोग जानते है कि गुजरात टायटंस के मालिक कौन है। इस टीम के मालिक स्टीव कोल्टज, रोली वैन रैपर्ड और डोनाल्ड मैकनाइज है गुजरात टायटंस के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट विक्रम सोलंकी , टीम के हेड कोच पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा, टीम के बैटिंग कोच और मेंटोर वो है जिन्होंने टीम इंडिया को साल 2011 में विश्व कप दिलाया था। गैरी कर्स्टन, और असिस्टेंट कोच हाशिम अमला है साथ ही स्पिन बोलिंग कोच आशीष कपूर है।

अब बात करते है टीम के प्रदर्शन की। दोस्तों गुजरात टायटंस ने आईपीएल में अपना पहला मुकाबला लखनऊ सुपर जॉइंट्स के खिलाफ खेला था। आपको बता दें कि लखनऊ सुपर जॉइंट्स ही वो दूसरी टीम है जो गुजरात टायटंस के साथ आईपीएल में शामिल हुई थी। गुजरात ने अपने पहले मैच में जीत हासिल की थी। इस मैच में जीत की नींव रखी मोहम्मद शमी ने जिन्होंने 25 रन देकर तीन विकेट झटके थे। वहीं बल्लेबाजी में योगदान दिया राहुल तेवतिया ने जिन्होंने 40 रन बनाए और लखनऊ को पांच विकेट से हरा दिया। गुजरात की टीम जिस हौंसले के साथ मैदान पर उतरी और पहले ही मैच में जीत दर्ज की उससे विरोधियों के माथे पर सिकन आ गई। हार्दिक ने फिर अगले दो मैच जीतकर आईपीएल में जीत की हैट्रिक लगा दी। दूसरे मैच में दिल्ली को और फिर पंजाब को हटाया। आईपीएल में लगातार तीन मैच हारने के बाद गुजरात को पहली हार सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों मिली। लेकिन हार्दिक पंड्या एंड कंपनी का हौंसला टूटा नहीं उन्होंने फिर अगले तीन मैचों में जीत की हैट्रिक लगा दी। जिसमे राजस्थान रॉयल्स, चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स को हराया।

गुजरात अब तक लीग में 7 मैचों मे 6 जीत और एक हार के साथ प्वाइंट टेबल में पहले स्थान पर थी। लीग स्टेज के दूसरे राउंड में भी गुजरात का जलवा बरकरार रहा। पहले हैदराबाद और फिर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को शिकस्त दी।लेकिन अगले ही मैच में गुजरात की टीम ने पंजाब के कागिसों रबादा के आगे घुटने टेक दिए। यह गुजरात की दूसरी हार थी गुजरात को पता भी नही था कि हार की हैट्रिक उसका इंतजार कर रही है। और 11 वें मैच में उसे मुंबई इंडियंस के हाथों शिकस्त मिली। अब गुजरात अंक तालिका में पहले स्थान से दूसरे नंबर पर खिसक गई थी और पहले नंबर पर थी लखनऊ सुपर जॉइंट्स। और अगला मैच भी इन्हीं दोनों के बीच होना था तब गुजरात के गेंदबाजों ने धारदार गेंदबाजी की और लखनऊ को 82 रनों पर समेट दिया। फिर क्या था 62 रनों से गुजरात मैच जीत गई। और प्ले ऑफ में क्वालीफाई करने वाली पहली टीम बन गई। 13 वें मैच में फिर गुजरात की टीम ने चेन्नई सुपर किंग्स को हराया और टॉप पोजिशन पर कब्जा कर लिया। गुजरात का अंतिम लीग मुकाबला था रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से । जहां बैंगलोर को प्ले ऑफ में पहुंचने के लिए किसी भी हाल में जीत चाहिए थी। फिर क्या था कप्तान फाफ डु प्लेसिस और विराट कोहली के आगे गुजरात की एक ना चली। गुजरात को अंतिम लीग मुकाबले में हार झेलनी पड़ी। इसी के साथ गुजरात ने 10 जीत और चार हार के साथ अंक में पहले स्थान पर रही। गुजरात अब क्वालीफायर के लिए पूरी तरह से तैयार थी जहां उसका मुकाबला आईपीएल के पहले सीजन की विजेता राजस्थान रॉयल्स से था। राजस्थान ने जोश बटलर और संजू सैमसन की धमाकेदार पारी के बदौलत गुजरात के सामने 188 रनों का लक्ष्य रखा। जवाब में गुजरात टीम का पहला विकेट शून्य के स्कोर में रिद्धिमान एक रूप में गिरा। इसके बाद गिल, मैथ्यू वेड और कप्तान हार्दिक ने अच्छी पारियां खेली। लेकिन एक समय ऐसा लग रहा था कि ये टीम इतने बड़े टारगेट को चेज नही कर पाएगी। आखिरी ओवर में 18 रनों की दरकार थी। गेंद थी प्रसिद्ध कृष्णा के हाथों में लेकिन मैथ्यू वेड ने तीन गेंदों पर तीन छक्के लगाकर फाइनल में जगह बना ली । लेकिन गुजरात को क्या पता था कि फाइनल में फिर उसके सामने राजस्थान रॉयल्स आ जायेगी।

फाइनल मैच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में होना था जहां गुजरात के फैंस ज्यादा थे। और इस स्टेडियम में एक लाख से भी ज्यादा दर्शक फाइनल मैच का लुप्त उठाने आए थे। स्टेडियम में शोर के बीच टॉस हुआ जिसे राजस्थान ने जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन ये फैसला थोड़ी ही देर में गलत साबित हो गया। यशस्वी जायसवाल ने सिर्फ 22 रन बनाए और जोश बटलर ने 35 रन । हार्दिक ने आईपीएल के फाइनल में ड्रीम स्पेल डालते हुए 4 ओवर में 17 रन देकर 3 मुख्य विकेट झटके। राजस्थान 20 ओवर में सिर्फ 130 रन ही बना सकी। दर्शकों ने मान लिया था कि इतना कम टोटल स्कोर तो गुजरात हासिल कर लेगी और ऐसा ही हुआ। लेकिन गुजरात की शुरुआत अच्छी नहीं रही।

प्रसिद्ध कृष्णा की कहर बरपाती गेंदों ने गुजरात को खूब छकाया। रिद्धिमान साहा दूसरे ओवर में ही चलते बने। कुछ देर बाद मैथ्यू वेड भी । टीम को अंत तक गिल और मिलर ने संभाला। फिर क्या था मिलर ने अपना किलर वाला अंदाज दिखाया । और गुजरात को चैंपियन बनाकर ही दम लिया। लेकिन विनिंग शॉट गिल ने ही लगाया। और इस तरह आईपीएल में डेब्यू करने वाली गुजरात टायटंस दूसरी टीम बन गई। पहली टीम राजस्थान रॉयल्स है जिसने 2008 में आईपीएल डेब्यू में पहला खिताब जीता था दोस्तों गुजरात टायटंस का आईपीएल में विनिंग परसेंटेज 100 रहा।

आईपीएल 2023 में गुजरात का पहला मुकाबला चार बार की चैंपियन सीएसके से 31 मार्च को है। ये आईपीएल का उद्घाटन मैच भी होगा। जहां हार्दिक की कोशिश रहेगी कि गुजरात को एक बार फिर चैंपियन बनाया जाए।

Leave a Comment