Placeholder canvas

बिहार के लाल ने चौकों- छक्कों की बारिश, टूटे रिकॉर्ड

Bihari News

भारतीय टीम के चमकते हुए सितारें बिहार के लाल ईशान किशन ने ये साबित कर दिया कि क्यों उन्हें BCCI द्वारा इतने मौके दिए जा रहे है. बिहार की इस लाल ने अपने 7 छक्कों से अफ्रीकी खेमे में खलबली मचा दी. लखनऊ में हुए पहले मैच में टीम इंडिया को 8 रनों से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन दूसरे मैच में धवन के धुरंधरों ने जोरदार वापसी करते हुए तीन मैचों की सीरीज में जान फूंक दी है, साथ ही सीरीज का फैसला भी अब दिल्ली में आखिरी वनडे मैच में ही होगा. ऐसे में अब कहा जा रहा है कि दिल्ली का मैच काफी रोमांचक होने वाला है. ऐसे में एक बार फिर से लोगों की निगाहें बिहार के ईशान किशन पर रहने वाला है.

भारत के लिए यह मुकाबला करो या मरो वाला था जिसमें ईशान किशन अपने बल्ले की धमक ने दक्षिण अफ्रीका का घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया. ईशान को रांची में खेले गए वनडे में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया. दोनों ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन और शुभमन गिल महज 13 और 28 रन के निजी स्कोर पर आउट होकर टीम इंडिया को बीच मजधार में छोड़ गए थे. ईशान किशन ने अपने होम ग्राउंड पर बड़ी ही जिम्मेदारी से स्थिति को समझा और श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 150 रन से अधिक की साझेदारी रच डाली. ईशान किशन ने भी 4 चौके और 7 छक्के की मदद से 93 रन ठोक डाले. मगर वह अपने शतक से केवल 7 रन दूर रह गए. उन्हे केशव महाराज ने अपना शिकार बनाया. ईशान किशन के साथ साथ यह पूर्व भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का भी होम ग्राउंड है रांची के मैदान पर वनडे क्रिकेट में ईशान किशन की अब तक की यह सबसे सर्वश्रेष्ठ पारी साबित हुई.

ईशान किशन ने अपनी आतिशी पारी की बदौलत रोहित शर्मा और सौरव गांगुली का रिकॉर्ड भी तोड़ डाला. साथ ही वह अब दूसरे पायदान पर आ गए है. वनडे की एक पारी में साउथ अफ्रीका के खिलाफ सबसे ज्यादा छक्के लगाने के मामले में यूसुफ पठान पहले नंबर पर हैं उन्होंने 8 छक्के लगाए हैं, वही रोहित शर्मा और सौरव गांगुली ने 6-6 छक्के लगाए थे. मगर ईशान ने दूसरे वनडे मैच में 7 छक्के लगाकर इन दोनों दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया है. मैच के बाद उन्होंने अपने छक्के लगाने की ​काबिलियत को लेकर बड़ा बयान दिया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि उनके जैसा छक्का कोई नहीं लगा सकता है. उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत आसानी से छक्के लगा लेता हूं. यह मेरी स्ट्रेंथ है. अगर मैं छक्के से ही सारा काम कर लेता हूं तो मुझे स्ट्राइक रोटेट करने की जरूरत नहीं है. अब सीरीज का आखिरी वनडे मैच दिल्ली में 11 अक्टूबर को खेला जाएगा. ऐसे में सभी की निगाहें एक बार फिर से ईशान किशन की तरफ होगी… और दर्शकों को उम्मीद भी हैं कि ईशान के छक्के चौके लगातार देखने को मिले.

Leave a Comment